News Description
देश के रक्षकों को सदा याद रखा जाएगा’

 भ्रष्टाचारसांप्रदायिकता ही आज हमारे शहीदों के सपने पूरे करने में सबसे बड़ी रुकावट है। इसके लिए युवाओं को ही आगे आकर संघर्ष करना पड़ेगा। तभी उन्हें शिक्षा रोजगार के अवसर योग्यता के आधार पर उपलब्ध हो पाएंगे। यह बात प्रो. जयपाल सिंह महिपाल बठिंडा ने रविवार को शहीद भगत सिंह नौजवान सभा, अंबेडकर अधिकार मंच, जन चेतना मंच द्वारा शहीद ऊधम सिंह की शहादत को समर्पित जिला स्तरीय डेलिगेट सम्मेलन को बतौर मुख्य वक्ता संबोधित करते हुए कही। 

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य के नाम पर वर्तमान सरकार जहां बड़ी बीमा कंपनियों की तिजोरियां भरने का काम कर रही है वहीं रोजगार के नाम पर युवाओं को रोजगार देने की अपेक्षा उन्हें झूठे लारे लगाये जा रहे है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने सता में आने से पहले हर साल 2करोड़ युवाओं को रोजगार मुहैया करवाने का वादा किया था लेकिन 3 साल के बाद मात्र 3लाख 75 हजार लोगों को ही रोजगार दिला सकी है। गांव साधनवास की ओर से जसवीर सिंह, कुलदीप सिंह, रवदीप सिंह, लवप्रीत सिंह सहित अन्य ग्रामीणों ने सामूहिक रूप से पानी की छबील भी लगाई। इस मौके पर आयोजन समिति द्वारा बच्चों को मुफ्त पढ़ाने वाली गांव कुदनी की सरपंच जसवंत कौर को भी सम्मानित किया गया। इस मौके पर परमजीत लाली, करनैल खिप्पल, जरनैल सिंह, अक्षय अरोड़ा, मलकीत सिंह, बिन्द्र सिंह, बसंत सिंह, सुरेश गर्ग, जोगिंद्र गर्ग, गुलाब बलरां, हरदेव चांदपुरा, नरेश खोखर, दुर्गा कामरेड, इकबाल ढेर आदि मौजूद थे।