News Description
स्कूलों के शिक्षा स्तर पर मांगी निदेशालय ने रिपोर्ट

शिक्षाकास्तर सुधारने के लिए स्कूलों में गठित एसएमसीज (स्कूल मैनेजमेंट कमेटी) की रिपोर्ट अब निदेशालय ने मांगी है। रिपोर्ट में एसएमसीज द्वारा कराए गए कार्यों का विवरण होगा। 
       इसमें देखा जाएगा कि स्कूलों का स्तर सुधारने के लिए गठित की गई कमेटियों ने किस प्रकार की भूमिका निभाई। यह भी देखा जाएगा कि कमेटियों के प्रयास से कितने बच्चे स्कूलों में बढ़े। इसके आधार पर पूरी रिपोर्ट तैयार होगी। सात अगस्त तक यह रिपोर्ट निदेशालय को भेजनी होगी। 

             यदि स्कूल में कोई निर्माण कार्य होना है या फिर कोई ओर कार्यक्रम है। तो वह एसएमसी की मीटिंग में रखा जाएगा। वहां से सभी की अनुमति मिलने के लेनी होगी। साथ ही एसएमसी गांव आसपास के क्षेत्र से ड्रॉप आउट बच्चों को स्कूल तक लाने में मुख्य भूमिका निभाए। जिससे सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ाई जा सके।

   इसमें स्कूल के स्तर को सुधारने में भूमिका, बच्चों उनके अभिभावकों को जागरूक कर स्कूल में नामांकन कराने, स्कूल की स्वच्छता में योगदान ड्रॉप आउट बालिकाओं को शिक्षा से जोड़ने जैसे बिंदुओं पर रिपोर्ट तैयार होगी। इसमें से बेस्ट एसएमसीज का चयन किया जाएगा। इस रिपोर्ट का उद्देश्य यह है कि जिले में एसएमसीज कितनी सक्रिय है।