# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
जेल में ग्रेजुएशन की तैयारी कर रहे हैं हरियाणा के पूर्व सीएम ओपी चौटाला

पानीपत: हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला ने जेल में रहते हुए फर्स्ट डिविजन से 12वीं की परीक्षा पास कर ली है। 82 साल के चौटाला अब तिहाड़ जेल में रहते हुए ही ग्रेजुएशन की तैयारी कर रहे हैं। बता दें कि चौटाला जेबीटी शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में 10 साल कैद की सजा काट रहे हैं। इस दौरान उन्होंने ‘नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग’ से पिछले सत्र में 12वीं की है।  

गौर करने लायक बात ये भी है कि हरियाणा में पंचायती चुनाव के लिए शैक्षणिक योग्यता निर्धारित की गई थी और ऐसे मे अटकलें ये भी लगाई जा रही हैं कि आने वाले दिनों में विधानसभा चुनाव में भी शैक्षणिक योग्यता लागू हो सकती है। पढ़ाई के लिए चौटाला के जागे शौक को राजनीतिक नजरिए से भी देखा जा रहा है। माना जा रहा है कि चुनाव लड़ने के लिए शैक्षिक योग्यता के नियम लागू होने की आशंका के मद्देनजर चौटाला जेल में पढ़ाई कर रहे हैं।

बीते दिनों जब चौटाला जमानत पर जेल से बाहर आए थे तो उन्होंने बताया था कि वे सुबह की शुरूआत अखबारों पर मंथन से करते हैं। इसके बाद पढ़ाई-लिखाई और टीवी देखते हैं। उनके पौत्र दिग्विजय सिंह ने बताया कि उनके दादा ने स्नातक की पढ़ाई के लिए किताबें भी मंगा ली हैं और उसके लिए तैयारी भी शुरु कर दी है।

बता दें कि ओमप्रकाश चौटाला का जन्म 1 जनवरी 1935 को देवीलाल के घर हुआ था और वे 5 बार हरियाणा के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। ओमप्रकाश के बेटे अजय चौटाल और अभय चौटाला हैं। अब देवीलाल के पड़पोते दुष्यंत चौटाला सांसद हैं। वहीं उनकी मां नैना चौटाला विधायक हैं। ऐसे भी इस बात में कोई शक नहीं कि चौटाला परिवार की चौथी पीढ़ी ने अपनी राजनीतिक विरासत को अपने कंधों पर संभाल लिया है। गौरतलब है कि ओमप्रकाश चौटाला व उनके बेटे अजय चौटाला को 16 जनवरी 2013 को जेबीटी शिक्षक भर्ती मामले में अदालत ने 10 साल कैद की सजा सुनाई थी। फिलहाल वह तिहाड़ जेल में सजा काट रहे हैं।