News Description
बिना सील के परीक्षा केंद्रों पर आए प्रश्न पत्र व ओएमआर शीट

हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन की ओर से कराई गई टैक्सेशन इंस्पेक्टर की परीक्षा में रविवार को परीक्षा केंद्रों पर प्रश्नपत्र बिना सील के पहुंचे। कई केंद्रों पर परीक्षार्थियों ने इसका विरोध किया। हालांकि हर परीक्षार्थी का प्रश्नपत्र और ओएमआर शीट पै¨कग में कवर थी। इसीलिए मामले ने तूल नहीं पकड़ा और अधिकारियों के समझाने के बाद मामला शांत पड़ गया। अंबाला में 69 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। इन पर सुबह और शाम के दोनों सत्रों में 18882 परीक्षार्थियों के बैठने की व्यवस्था की गई थी। कुल 37764 आवेदकों में 16 हजार 218 परीक्षा में हिस्सा लिया। इस तरह करीब 43 फीसदी परीक्षार्थी पेपर देने पहुंचे।

दरअसल, अभी तक जितनी भी परीक्षाएं होती थीं, उनमें ओएमआर शीट प्रश्नपत्रों के बीच में पैकेट बंद लिफाफे में आती थी। इनमें प्रश्नपत्र पुस्तिका पर सील लगी होती थी और इसी के बची में ओएमआर शीट होती थी, लेकिन इस बार पैकेट तो बंद था पर उसके भीतर ओएमआर शीट और प्रश्नपत्र दोनों अलग-अलग थे और दोनों में से किसी पर सील नहीं थी। वहीं 37 हजार परीक्षार्थियों की संख्या को देखते हुए 52 परीक्षा केंद्र अंबाला शहर और छावनी में बनाए गए थे, जबकि 17 परीक्षा केंद्र बराड़ा में बनाए गए थे। सुबह के सत्र में जहां 7983 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी तो शाम के सत्र में 8235 ने पेपर दिया।

पहली बार आए ओएमआर शीट में बदलाव

हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन की इस परीक्षा में कई बदलाव देखने को मिले। ओएमआर शीट पर जहां पहली बार मार्निग और इव¨नग शिफ्ट का कालम जोड़ा गया था, वहीं परीक्षा की डेट का कालम भी पहली बार अंकित किया गया था। खास बात यह रही कि हर परीक्षार्थी के परीक्षा कोड ही अलग नहीं थे बल्कि उनके सभी प्रश्न भी अलग-अलग थे। इससे पहले प्रश्न पत्र के कोड और प्रश्न संख्या ही अलग हुआ करती थी। बस कोड के हिसाब से प्रश्न आगे-पीछे होते थे।