News Description
स्पीड टेस्ट में खिलाड़ियों ने जमकर बहाया पसीना

हरियाणा सरकार द्वारा स्वर्ण जयंति खेल नर्सरी स्कीम के तहत नेताजी सुभाष चंद्र बोस स्टेडियम में आयोजित स्पीड टेस्ट में शुक्रवार को खिलाड़ियों ने जमकर पसीना बहाया। टेस्ट में चयनित खिलाडियों को नर्सरियों में दाखिला देकर खेल का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

       प्रदेश सरकार द्वारा प्रत्येक जिले में 20 -20 खेल नर्सरी स्थापित की गई हैं। इन्हीं खेल नर्सरियों में 25-25 खिलाड़ियों का स्पीड टेस्ट के जरिए चयन किया जाएगा। खेल एवं युवा कल्याण विभाग अधिकारी बिजेंद्र ¨सह ने बताया कि जिला में 14 खेल नर्सरी स्थापित की जा चुकी है। नर्सरियों में दाखिले के लिए खिलाड़ियों ने अपना पंजीकरण कराया था।

        पंजीकरण के बाद खिलाड़ियों का शारीरिक मापतोल किया गया है और खिलाड़ियों का स्पीड टेस्ट लिया गया है। उन्होंने बताया कि खेल नर्सरी में कुश्ती, कबड्डी, वालीबाल, हैंडबाल, हॉकी, एथलेटिक्स, फुटबॉल, बॉ¨क्सग सहित अन्य खेलों का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

       खेल नर्सरियों में कोचों की व्यवस्था की जाएगी। जिसका खर्चा सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। इसके अलावा नर्सरियों की देखरेख भी खेल विभाग द्वारा की जाएगी। 14 साल से कम उम्र के खिलाड़ियों को 1500 रुपये मासिक और 19 साल से कम उम्र के खिलाड़ियों को दो हजार रुपये मासिक दिया जाएगा।