News Description
पार्षद पतियों को नहीं मिली एंट्री तो बाहर स्क्रीन पर देखी बैठक विकास में भेदभाव पर हंगामा, महिला

नगरपरिषद की तीसरी बैठक में पहली बार महिला पार्षद पतियों के लिए नगर परिषद की बैठक का लाइव टेलिकास्ट किया गया। जिससे पार्षद पति बैठक में रुकावट पैदा नहीं कर सकें। इसके साथ-साथ शहर को लोगों ने भी नगर परिषद की बैठक की कार्यवाही को देखा। बैठक में पांच प्रस्तावों पर मोहर लगाकर उसे पास करने के लिए डीसी को भेज दिया गया। बैठक में 28 पार्षदों ने भाग लिया। इस दौरान कई मुद्दों पर पार्षदों में बहस हुई तो बाहर बैठे लोग शोर मचाते रहे। 

बैठक का लाइव टेलिकास्ट देख शहर के लोगों ने भी माना कि यह व्यवस्था अच्छी है जिसे शहर को कोई भी व्यक्ति शहर के विकास कार्यों को लेकर हो रही चर्चा के बारे में जान सकें कि उनके पार्षद ने कितनी बार बैठक में वार्ड की समस्या को उठाया है। बैठक की अध्यक्षता नगर परिषद चेयरपर्सन शीला राठी ने की। बैठक में विधायक नरेश कौशिक ने भी भाग लिया शहर में सरकार द्वारा होने वाले विकास कार्यों के बारे में चर्चा में अपनी सलाह दी। 

मनोनीत पार्षदों को दिलाई शपथ 

नगरपरिषद की बैठक में सरकार की ओर से मनोनीत किए गए तीन पार्षदों मे इंद्र कुमार नागपाल, अशोक गुप्ता राजपाल शर्मा पाल्ले को शपथ दिलाई। बैठक में कई राजनीतिक दलों के पार्षदों ने अपने वार्डों में विकास कार्यों में अनदेखी करने को लेकर एतराज जताया साथ में परिषद विधायक पर वार्डों में कार्य करवाए जाने को लेकर भेदभाव के आरोप भी मढ़े। मीटिंग में भारी शोर शराबा होने के चलते विधायक नरेश कौशिक कुछ महिला पार्षद बीच में ही उठकर जाने लगे तो कुछ अन्य पार्षदों ने भी वाक आउट करने का मन बनाया, लेकिन कुछ ही देर बाद स्थिति सामान्य होने के बाद दोबारा से मीटिंग का दौर शुरू हुआ। इससे पहले लगभग डेढ़ घंटा तक चली मीटिंग में खूब हंगामा होता रहा। 

पिछली बैठक के एजेंडे पर किया मंथन, एतराज को प्रोसिडिंग रजिस्टर में दर्ज करने आपत्ति 

बैठकशुरू होते ही वार्ड 16 से पार्षद गुरदेव राठी ने पिछली बैठक के एजेंडे को लेकर चर्चा की। साथ में जो उन्होंने एतराज जताए थे उनके प्रोसिडिंग रजिस्टर में दर्ज करने पर कड़ी आपत्ति जताई। साथ में कई कार्यों को लेकर सवाल भी खड़े किए। उन्होंने सफाई ठेके में भ्रष्टाचार होने की बात भी कही। साथ में घर-घर कूड़े का उठान करने पर भी रोष जताया। उन्होंने अधिकारियों की कार्यशैली पर भी सवाल खड़े किए कि जब उन्होंने पिछली बैठक में जो आपत्ति जताई थी उन्हें प्रोसिडिंग रजिस्टर में क्यों नहीं दर्ज की। बल्कि मनमाने तरीके से कार्रवाई की जा रही है। यही नहीं नगर परिषद में लगे सीसीटीवी कैमरों के अलावा कुछ अन्य कार्यों पर खर्च हुए रुपयों का पूरा ब्यौरा दिए जाने के लिए भी कहा। इसी तरह से वार्ड-30 से पार्षद नीना सतपाल राठी ने परिषद विधायक पर अपने वार्ड में विकास कार्यों की पूरी अनदेखी करने के आरोप लगाए।