News Description
दाखिले की शर्त हटाने के बाद इनसो ने मिठाई बांटकर मनाई खुशी

प्रदेश के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में दो साल से ज्यादा का गैप होने पर विद्यार्थियों के दाखिले पर लगाई गई पाबंदी को हटवाने में सांसद दुष्यंत चौटाला और इनसो की मेहनत रंग लाई। गैप ईयर वाले विद्यार्थियों के दाखिलों पर पाबंदी के मामले में सरकार निर्णय वापस लेना पड़ा है। उच्चतर शिक्षा निदेशालय ने गैप ईयर वाले विद्यार्थियों को महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में दाखिला न देने संबंधी आदेश जारी किए थे। उसका प्रदेश में इनसो छात्र संघ ने विरोध किया था। बुधवार को उच्च शिक्षा विभाग की ओर से अधिसूचना जारी कर फैसले को वापस ले लिया। मामले में इनसो के सदस्यों ने बृहस्पतिवार को कुवि कुलपति से मिलकर खुशी मनाई।

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में इनसो कार्यकर्ताओं और छात्रों ने इनसो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जस¨वद्र खैरा के नेतृत्व में लड्डू बांटकर खुशी का इजहार किया। छात्रों ने कुलपति कार्यालय पहुंचकर कुलपति प्रो. कैलाश चंद्र शर्मा और रजिस्ट्रार डॉ. प्रवीण सैनी का भी मुंह मीठा कराया और उनका धन्यवाद किया। जस¨वद्र खैरा ने कहा कि इनसो ने सदैव ही छात्र हितों की रक्षा के लिए अपनी आवाज को बुलंद किया है। अगर भविष्य में छात्रों की समस्याओं का समाधान करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध न हुई तो इनसो संगठन छात्रों की मांगों को मनवाने के लिए कोई भी कुर्बानी देने के लिए तैयार रहेगा। इस मौके पर तमाम छात्र-छात्राओं ने इनसो की इस जीत को छात्र हितों की जीत बताते हुए इनसो संगठन को अपना सच्चा हितैषी बताया। इस मौके पर प्रमुख रूप से इनसो कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय अध्यक्ष विक्रम गुर्जर, राष्ट्रीय महिला संयोजक मंजू जाखड़, योगेश शर्मा, हर्ष शर्मा, रविन्द्र तंवर, दिपेन्द्र बराड़, सुदेश मोरवाल, ¨सपल बांगड़, सावन चौधरी, सुनील क बोज, विपिन पांचाल, गुरमीत हुंदल आदि मौजूद रहे।