News Description
हसनपुर में वृद्धा की चोटी कटने की अफवाह

 जिला भर में विभिन्न स्थानों पर महिलाओं की चोटी कटने की अफवाह का सिलसिला जारी है। वहीं सोशल मीडिया पर भी इस प्रकार की अफवाहें भी चल रही हैं। महिलाओं व युवतियों में भय का माहौल भी बनता जा रहा है। नए मामलों में भूरावास, खोरड़ा के बाद हसनपुर एवं माजरा दुबलधन गांव में भी चोटी कटने की अफवाह फैली है। हसनुपर गांव में वृद्धा की चोटी कटने की अफवाह के बाद उनके घर आसपास क्षेत्र के लोगों का तांता लगा हुआ है। घटना बुधवार की रात करीब 12 बजे की बताई जा रही है।

बताते है कि हसनपुर गांव निवासी 65 वर्षीय महिला शकुंतला पत्नी होशियार ¨सह अपने प्लाट में बुधवार की रात को पशुओं के पास सो रहे थे। होशियार ¨सह व शकुंला का कहना है कि करीब 11 बजे मच्छरदानी लगा कर सोए थे। शकुंतला का कहना है कि करीब 12 बजे पहले तो बिल्ली के बोलने की आवाज सुनाई दी। फिर उनके गेट को खटखटाने की आवाज आई और कुछ मिनट के बाद दीवार के ऊपर से उसे एक काले रंग का कुत्ता प्लाट में कूदा और उसके बालों को नोचने लगा। जब उसने शोर मचाया तो उसका पति भी उठ गया और उसने देखा तो उसे कुछ भी दिखाई नहीं दिया। फिर भी उसने चार पाई पर लाठी मारनी शुरू कर दी। लेकिन कुछ ही मिनट में देखा तो शकुंतला की चोटी जमीन पर गिरी हुई थी। शकुंतला का कहना है कि डर के मारे उसे उल्टी व दस्त भी लग गए। कुछ देर बार वह संभली और मामले की जानकारी घर पर अपने बच्चों को भी दी। बच्चों ने आकर देखा तो उसकी चोटी के बाल रबड़ में बंधे हुए जमीन पर गिरे हुए थे। बालों को देखा गया तो ऐसा लग रहा था किसी कैंची आदि से काटने की बजाए उन्हें तोड़ा गया है। अल सुबह जब गांव में घटना का पता चला तो उनके घर पर लोगों का तांता लग गया और आसपास क्षेत्र में भी जानकारी फैलते देर नहीं लगी। उसके बाद आसपास क्षेत्र के गांवों से भी लोग दिन भर उनके मकान पर आते जाते रहे। इससे पहले भूरावास गांव में भी तीन चार रोज पूर्व शकुंतला नाम की महिला की चोटी कटी थी। वहीं बुधवार को खोरड़ा गांव के सरपंच भूपेंद्र की पत्नी बबीता की चोटी कटने अफवाह से भी क्षेत्र में भय का माहौल पैदा हो गया था। जबकि बबीता बेहोश भी हो गई थी। उसे चरखी दादरी के सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

-----

माजरा दूबलधन गांव में दोपहर को कटी महिला की चोटी :

बेरी क्षेत्र के माजरा दूबलधन गांव में भी महिला लक्ष्मी पत्नी दिलबाग ¨सह की चोटी भी बृहस्पतिवार की दोपहर को काट दी गई। बताया जा रहा है कि महिला दोपहर के समय अपने घर में सो रही थी। जब वह नींद से उठी तो उसकी चार पाई के पास बाल पड़े थे। जब उसने देखा तो उसकी चोटी कटी हुई थी। इतना देखते ही वह बेहोश हो गई। उसे गांव में ही एक चिकित्सक से इलाज दिलाया गया है।