News Description
प्रदेश की स्वर्ण जयंती पर आयोजित मैजिक शो का भव्य समापन

हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश वासियों को हिन्दुस्तान की प्राचीन कला जादू से रूबरू करवाने के उद्देश्य से हरियाणा स्वर्ण जयंती उत्सव वर्ष के उपलक्ष्य में प्रदेश में आयोजित मैजिक शो का समापन हो गया। इस अवसर पर एसपी कार्यालय के सुरक्षा प्रभारी समापन समारोह के मुख्यातिथि कुलदीप ¨सह, श्रीराम सेवा समिति के प्रधान धर्मपाल, महासचिव ज्ञानचंद मित्तल, महाप्रबंधक राजेन्द्र मोदी, शनि मंदिर के प्रधान अशोक कुमार गर्ग, चेतराम, मोनू, दयानंद तथा फतेहाबाद शहर के प्रसिद्ध जादूगर बाघेला आदि गणमान्य व्यक्तियों ने विश्व विख्यात जादूगर सम्राट शंकर तथा उनके साथ आए अन्य जादूगर कलाकारों को स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। प्रदेश सरकार द्वारा हरियाणा के गठन के 50 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष में गत एक नवम्बर से आगामी 31 अक्तूबर तक हरियाणा स्वर्ण जयंती उत्सव वर्ष मनाया जा रहा है। इसी उत्सव वर्ष के उपलक्ष्य में जादूगर सम्राट शंकर के मैजिक शो तीन दिन तक आयोजित किए। प्रतिदिन दो शो आयोजित करवाए गए। जिसमें दोपहर 1 बजे से 3 बजे तक तथा सायं 7 से रात्रि 9 बजे तक के शो शामिल थे। सरकार द्वारा हिन्दुस्तान की प्राचीन कला को पुन जीवित करने के लिए सरकार द्वारा यह कदम उठाया गया है, जो आधुनिक संचार माध्यम विशेषकर इंटरनेट सहित टीवी एवं मोबाइल की वजह से लुप्त होने के कगार पर पहुंच चुकी है। जादूगर सम्राट शंकर ने देश के विभिन्न कोनों में जादू के शो आयोजित करने के अतिरिक्त विदेशों में भी इस कला को पहुंचाकर देश का नाम रोशन किया है। मैजिक शो में इंद्रजाल, लड़की को हवा में उड़ाने, बिजली के आरे से लड़की के दो टुकड़े करने जैसे आश्चर्य चकित करने वाले प्रदर्शन इस शौ के मुख्य आकर्षण रहे। मैजिक शो में वाटर ऑफ इंडिया का भी प्रदर्शन किया गया जिसमें कुछ समय के अंतराल के बाद लुटिया से बार-बार पानी निकाला। उन्होंने सस्पेंशिया प्रदर्शन के दौरान लड़की को हवा में घूमाने के अतिरिक्त अन्य प्रदर्शन भी किए। उन्होंने एलुजन आफ अमेरिका शो के माध्यम से बक्शे में बंद लड़की को गायब करके दर्शकों की खूब तालियां बटोरी। मिश्र की राजकुमारी की ममी से लड़की बनाकर उसे बाक्स में बंद करने के बाद दर्शकों के मध्य से निकालकर दर्शकों को आश्चर्य चकित किया। रंगीन इंद्रजाल के माध्यम से मीना बाजार तथा रूमाल, कागज एवं किताब से सफेद कबूतर निकालकर बेहतरीन हाथ की सफाई की कला का प्रदर्शन किया।