News Description
डाटा लेकर बड़े हादसों काे चेक करेंगे रोड सेफ्टी एसोसिएट

एक बार फिर सड़क हादसों को कम करने के लिए सरकारी तंत्र पर रोड सेफ्टी एसोसिएट के साथ पहल शुरू हुई है। प्राथमिक दृष्टि से इसे आठ जिलों में शुरू किया गया है। जो अभी संबंधित जिलों से सड़क दुर्घटनाओं का आंकड़ा एकत्रित कर रहे हैं। सारा काम पूरा होने के बाद दुर्घटना संभावित क्षेत्र को सुधारा जाएगा। इस काम को अमलीजामा पहनाने में कम से कम एक साल लगेगा। इसकी शुरुआत गुरुवार को अधिकारियों के साथ मीटिंग से हुई।

डीसी ऑफिस में एक बैठक आयोजित हुई। इस दौरान विभागीय अधिकारी मौजूद रहे। सरकार की तरफ से चयनित रोड सेफ्टी एसोसिएट शहर व ग्रामीण इलाके से जुड़े एक्सीडेंट प्रोन एरिया को चेक करेंगे। इसके लिए लोक निर्माण विभाग, जनस्वास्थ्य, विद्युत निगम, वन विभाग, हुडा, नगर निगम, पुलिस व अन्य विभागों को दिशा-निर्देश भी जारी किए गए हैं। यह कार्य अभी हरियाणा के अम्बाला, कुरुक्षेत्र, पानीपत, सोनीपत, झज्जर, रेवाड़ी, हिसार और गुरु ग्राम में शुरू हुआ है।

मॉडल टाउन क्रासिंग और शास्त्री कट जल्द होंगे दुरुस्त| रशित बजाज ने बताया कि उन्हें यहां शास्त्री कट और मॉडल टाउन क्रासिंग का एरिया अधिक खतरनाक लगता है। यहां एक्सीडेंट की संख्या भी ज्यादा है। इसे सुधारने के लिए संबंधित विभागों की मदद ली जाएगी। जल्द ही इन्हें दुरुस्त किया जाएगा।

नारायणगढ़-शहजादपुर में मिले 13 प्रोन एरिया| रोड सेफ्टी एसोसिएट रशित बजाज ने बताया कि अभी उन्होंने नारायणगढ़ और शहजादपुर का एरिया देखा है। यहां लगभग 13 एक्सीडेंट प्राेन एरिया मिले हैं। पिछले साल जिले में करीब 301 लोग हादसों का शिकार होकर जान गंवा बैठे। इस बार अभी तक 133 लोगों की जान गई है। उनका काम न केवल अपने स्तर पर सड़क सुरक्षा में कमी के उपाए की जानकारी जुटाना है बल्कि सुधारना भी है।

लोग दे सकते हैं जानकारी|अगर किसी भी जगह कोई संभावित दुर्घटना क्षेत्र है तो उसकी जानकारी सीधे उन तक पहुंचाई जा सकती है। किसी पेड़, बस क्यू शेल्टर, खंभा, ट्रांसफार्मर इत्यादि की जानकारी भी दी जा सकती है।