News Description
दो साल से ज्यादा गैप वाले छात्रों को मिलेगा दाखिला, चौटाला ने संसद में उठाया मुद्दा

हरियाणा के कॉलेजों में दो साल से अधिक गैप वाले विद्यार्थियों को भी अब दाखिला मिलेगा। संसद में मामला उठने और फिर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के हस्तक्षेप के बाद उच्चतर शिक्षा विभाग ने ऐसे विद्यार्थियों को दाखिला न देने का आदेश वापस ले लिया है।

   उच्चतर शिक्षा विभाग ने 31 मई को सभी विश्वविद्यालयों को पत्र जारी कर 12वीं के बाद दो साल तक पढ़ाई से दूर रहने वाले विद्यार्थियों को कॉलेजों में दाखिला नहीं देने के निर्देश दिए थे। इनेलो संसदीय दल के नेता एवं हिसार के सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला ने बीते शुक्रवार को इस मामले को संसद में उठाया और फिर अगले दिन केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर से मुलाकात की।

     सांसद ने कहा कि विद्यार्थियों के हित में यह फैसला तुरंत वापस लिया जाना चाहिए। वहीं, इनेलो की छात्र इकाई इनसो ने भी केंद्र सरकार के साथ हरियाणा के राज्यपाल, मुख्यमंत्री और उच्च शिक्षा निदेशक को ज्ञापन भेज कर फैसले को वापस लेने का दबाव बनाया।

मंगलवार को उच्चतर शिक्षा निदेशालय ने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक और चौधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी सिरसा को पत्र जारी कर पुराने आदेश को तुरंत प्रभाव से निरस्त करने का निर्देश दिया। पत्र की कॉपी सभी राजकीय महाविद्यालयों, सहायता प्राप्त महाविद्यालयों और निजी कॉलेजों को भी भेजी गई है