News Description
करंट की चपेट में आने से किशोर की मौत, लोगों ने लगाया जाम

मंगलवार को दुलीना स्थित जिला कारागार के नजदीक हुए हादसे में एक युवक की करंट की चपेट में आने से मौत हो गई। मृतक यहां अपनी मां के साथ जेल में बंद अपने मामा के बेटे से मिलाई के लिए आया हुआ था। मोटरसाइकिल पर सवार होकर यहां पहुंचे युवक ने पहले अपनी मां को उतारने के बाद उसे साइड में खड़ा कर दिया और स्वयं मोटरसाइकिल को खड़ा करने के लिए चला गया। उसे यह नहीं मालूम था कि जिस बिजली के खंबे के नजदीक वह मोटरसाइकिल को खड़ा करने के लिए गया है। उसमें करंट आया हुआ है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जैसे ही करंट ने उसे चपेट में लिया। उसी दौरान वह झुलसने लगा और मोटरसाइकिल ने भी एकाएक आग पकड़ ली। रईया गांव के राहुल के साथ घटित हुए घटनाक्रम को देख उसकी मां ने दौड़कर बेटे को बचाना भी चाहा। मौके पर मौजूद रहे लोगों ने उसे किसी तरह से रोका। हालांकि रस्सा आदि डालकर लोगों ने राहुल को बचाने का प्रयास किया। लेकिन वह सभी कुछ नाकाफी रहा। कुछ ही मिनटों में राहुल की मौके पर मौत हो गई। उधर, घटना के बाद लोगों ने जब बिजली निगम को इसकी जानकारी देते हुए बताया तो वहां से उन्हें सकारात्मक जवाब नहीं मिला। जिससे लोग गुस्सा गए। इधर, घटनाक्रम की जानकारी राहुल के गांव में परिजनों एवं अन्य लोगों को दी गई। कुछ ही मिनटों में लोग सड़क पर उतर आए और उन्होंने मुख्य मार्ग पर यातायात को बाधित करते हुए बिजली निगम की कार्यशैली का विरोध जताया। जाम की सूचना मिलने के बाद तहसीलदार, विभागीय अधिकारी एवं थाना सदर प्रभारी सुरेंद्र कुमार टीम सहित मौके पर पहुंचे। मौके पर मौजूद रहे इन सभी द्वारा किए गए सामूहिक प्रयास के चलते जाम लगा रहे लोग समझें और उन्होंने जाम खोला। जिससे मुख्य मार्ग पर यातायात व्यवस्था सामान्य हो पाई। उधर, मृतक के शव की पोस्टमार्टम की प्रक्रिया पूरी कराने के बाद पुलिस ने उसे परिजनों को सौंप दिया। जिसके बाद बड़े ही गमगीन माहौल में उसका अंतिम संस्कार किया गया है।