News Description
प्लास्टिक फैक्ट्री में हो रही बिजली चोरी पकड़ी, 35 लाख जुर्माना

    जिले में रातभर रोहतक विजिलेंस की टीम ने बिजली चोरी पकड़ने के लिए ताबड़तोड छापेमारी की। इस दौरान कबाड़ से प्लास्टिक बनाने की फैक्ट्री, तीन ट्यूबवेल व एक घर में अवैध कनेक्शन पकड़ी गई। विजिलेंस की टीम ने फैक्ट्री पर करीब 35 लाख रुपये तथा अन्य चोरी के मामलों में करीब पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। पुलिस की टीम भी साथ रही। टीम ने सभी के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

      विजिलेंस, रोहतक इंस्पेक्टर योगेश हुड्डा के नेतृत्व में सात सदस्यों की टीम गठित की गई। इस टीम के साथ अलग से आधा दर्जन पुलिस कर्मी भी शामिल थे। विजिलेंस की टीम सबसे पहले करीब 10 बजे गन्नौर के आसपास के गांवों के खेतों में गई, जहां तीन ट्यूबवेल चोरी की बिजली से चल रहे थे। इसके बाद टीम गन्नौर के एक ढाबे पर पहुंची, जहां संचालक तार लगाकर बिजली चोरी कर रहा था। वहीं एक घर में भी चोरी पकड़ी गई। टीम ने इन पर करीब पांच लाख रुपये का जुर्माना किया। इसके बाद टीम सोनीपत मॉडल टाउन में चल रही कबाड़ से प्लास्टिक बनाने की फैक्ट्री में पहुंची।

       फैक्ट्री में मीटर को बाइपास कर सीधे खंभे से तार जोड़कर बिजली चोरी की जा रही थी। टीम ने फैक्ट्री मालिक पर करीब 35 लाख रुपये का जुर्माना लगाने के साथ उस पर एफआइआर भी दर्ज करा दी है।