News Description
हाइवे पर टूट गया दो परिवारों का सहारा

सोनीपत : हाइवे पर मुरथल चौके के पास सोमवार को हुए हादसे में पिता-पुत्र की हुई मौत के साथ एक साथ दो परिवारों का सहारा टूट गया। दोनों परिवार निराश्रित हो गए। लुधियाना के गांव शेखपुरा के परिवार में अब सिर्फ महिलाएं ही बची हैं।

     हरदीप व उसके पिता सोहन की मौत के बाद अब परिवार में उसकी मां, पत्नी व पांच महीने की बेटी के अलावा एक विवाहित बहन ही बची है। पत्‍‌नी के मायके में भी कोई पुरुष सदस्य नहीं बचा है। दोनों परिवारो में अब कोई कमाने वाला शख्स नहीं रहा। बहन भी शादी के बाद अपने पति के साथ कनाडा जा बसी है। उसी से मिलने सोहन व उसकी पत्नी कनाडा जा रहे थे। हरदीप अपने दोस्त के साथ उन्हें एयरपोर्ट छोड़ने जा रहा था। बीच रास्ते ही परिवार हादसे का शिकार हो गया। मंगलवार को पोस्टमार्टम करवाने के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया।

   हादसे में मारा गया हरदीप दो परिवारों का सहारा था। पत्नी के परिवार में भी कोई कमाने वाला नहीं है। इन दिनों हरदीप अपनी पत्‍‌नी के मायके में ही रह रहा था। पत्नी के इकलौते भाई की भी मौत हो चुकी है। हरदीप ही अपने व पत्नी के परिवार का सहारा बना हुआ था। उसकी मौत से दोनों ही परिवारों में कोई कमाने वाला नहीं रहा। पिता-पुत्र की मौत से गांव शेखपुरा व पत्नी के मायके बारदेकी में मातम पसरा हुआ है।