News Description
शहर के कॉलेजों में सीटें फुल, गांवों में अब भी सीटें खाली

कॉलेजों में दाखिले के लिए ओपन काउंसलिंग के बाद शहर के सरकारी कॉलेजों में सीटें फुल हो गई हैं। ग्रामीण कॉलेजों में अब भी सीटें रिक्त हैं। राजकीय महाविद्यालय जसिया व राजकीय महिला महाविद्यालय मौखरा में विद्यार्थी दाखिला लेकर पढ़ाई कर सकते हैं। कुछ निजी महाविद्यालयों में सीटें रिक्त हैं।

    पोर्टल ऑन होने पर दाखिले के लिए आवेदन किया जा सकता है। उच्चतर शिक्षा निदेशालय रिक्त सीटों वाले महाविद्यालयों की अपील पर पोर्टल ओपन कर सकता है। जसिया कॉलेज में बीए की 160 सीटों से एससी की तीन व बीकॉम की 80 में से 66 सीटें रिक्त हैं। इसके अलावा मौखरा कॉलेज में बीए की 160 सीटों में 120 व बीकॉम की 80 में 76 सीटें रिक्त हैं। इसके अलावा गौड़ कॉलेज में करीब 30 प्रतिशत सीटें शेष रही हैं। इधर, दाखिले के बाद कॉलेज पहुंचे विद्यार्थियों ने नए दोस्त बनाए और उनके साथ समय बिताया।

     विभाग ने कॉलेजों में 17 जुलाई से कक्षाएं शुरु करने का निर्देश जारी किया था। ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया में गड़बड़ियों के चलते प्रवेश तिथि बढ़ाकर 18 जुलाई करनी पड़ी। विद्यार्थियों को 20 जुलाई की काउंसलिंग में कॉलेजों में दाखिला दिया गया। इसके बाद शनिवार रविवार का अवकाश रहा। सोमवार को भी विद्यार्थी दाखिलों को लेकर परेशान रहे। अब तीज व अन्य अवकाश हैं। ऐसे में यह पूरा महिना दाखिले में निकल जाने से एक अगस्त को ही सही ढंग से कक्षाएं लगना शुरु होने की संभावना है।