News Description
चेयरपर्सन को हटाने का सत्यापित ज्ञापन देकर गायब हुए सदस्य

चायत समिति चेयरपर्सन आशारानी को हटाने के लिए 22 सदस्य लामबंद होकर गत दिनों एडीसी को सत्यापित ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्होंने चेयरपर्सन को हटाने की मांग की। उनकी मांग पर एडीसी ने 24 जुलाई को अविश्वास प्रस्ताव रखने की मंजूरी दी। परंतु सोमवार को जिन सदस्यों ने सत्यापित ज्ञापन दिया वे एक भी सदस्य बीडीपीओ कार्यालय में बैठक में भाग लेने नही पहुंचे। मौके पर मौजूद डीसी डा. जेके आभीर व डीडीपीओ राजेश खोथ ने वीडियोग्राफी करवाई। सदस्यों का करीब 40 मिनट तक इंतजार किया। लेकिन तय समय पर सदस्य न पहुंचने पर उन्होंने बैठक रद्द कर दी। अब एक साल के लिए चेयरपर्सन को हटाने के लिए प्रस्ताव नहीं लाया जा सकता।

चेयरपर्सन आशारानी को हटाने के लिए शुरू से ही कुछ सदस्य विरोध कर रहे थे। उन्होंने चेयरपर्सन को हटाने के लिए प्रयास कर रहे थे। गत 5 जून को उन्होंने एडीसी को सत्यापित ज्ञापन दिया था। इस दौरान 22 सदस्य मौजूद रहे। इसके बाद उनके हस्ताक्षर की जांच हुई तो 20 सदस्य ही पहुंचे। उस दौरान भी अहसास हो गया था कि चेयरपर्सन अपनी कुर्सी आसानी से बचा लेंगे।