News Description
दक्षिण अफ्रीका में दोस्तों के साथ काटा क्रिकेटर ने केक, मां को है 10 साल से है ये मलाल

ट्वंटी-ट्वंटी क्रिकेट के स्पेशलिस्ट गेंदबाज युजवेंद्र चहल उर्फ सन्नी रविवार को 26 साल के हो गए। युजवेंद्र ने दक्षिण अफ्रीका में अपने दोस्तों के साथ केक काटकर बर्थ-डे सेलिब्रेट किया। दूसरी ओर यहां माता-पिता को इस खास मौके पर बेटे के उनके पास नहीं होने का मलाल है। दरअसल युजवेंद्र क्रिकेट टीम इंडिया-ए के साथ शनिवार को ही मनीष पांडे के नेतृत्व में दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए रवाना हुए हैं। वहीं पिता ने बताया कि पिछले 10 साल से वह बेटे का जन्मदिन व्हाट्सऐप्प मैसेज या फोन कॉल करके ही मनाते आ रहे हैं

 क्रिकेटर युजवेंद्र हरियाणा के जींद के रहने वाले हैं। उनका जन्म 23 जुलाई 1990 को जींद के गांव दरियावाली में हुआ था।

- इनके पिता केके चहल जींद कोर्ट में वकील हैं, जो 1983 में गांव दरियावाली के सरपंच रह चुके हैं। 1984 में वे मार्केट कमेटी जींद के चैयरमैन भी रहे। 2002-03 में वे बार एसोसिएशन जींद के प्रेजिडेंट भी रह चुके हैं।
- युजवेंद्र की बड़ी बहन नीलकमल फिलहाल अॉस्ट्रेलिया में रह रही है। उनकी शादी कैथल के राकेश ढुल से हो रखी है, जो अॉस्ट्रेलिया में हैं। 
- राकेश और नीलकमल दोनों अॉस्ट्रेलिया में जॉब करते हैं। 
- युजवेंद्र की दूसरी बहन गीतांजलि भी अॉस्ट्रेलिया में रह रही है। गीतांजली वहां से प्रोफेशन कोर्स कर रही है। गीतांजलि अभी शादीशुदा नहीं है।
 
 
पिता का सपना था-बेटा बने क्रिकेटर
- एडवोकेट पिता केके चहल का सपना था कि उनका इकलौता बेटा क्रिकेटर बने और इंडिया के लिए खेले।
- इसके लिए उन्होंने कम मेहनत नहीं की। खेत में पिच बनाकर बेटे को प्रैक्टिस कराया। स्टेडियम घर से दूर था और वहां पूरी सुविधाएं नहीं थीं।
- बकौल केके चहल, युजवेंद्र 6-7 साल की उम्र से क्रिकेट खेलने लगा था। पढ़ाई में मन लगता नहीं था।
- 2004 में क्रिकेट के प्रति उसका लगाव देखकर मैंने अपने डेढ़ एकड़ खेत में उसके लिए पिच बनवाई। यहीं वह सुबह-शाम प्रैक्टिस करता था।