# रक्षा मंत्रालय ने इजरायल के साथ रद्द की 500 मिलियन डॉलर की मिसाइल डील         # कालेधन पर भारत को जानकारी देंगे स्विस बैंक, पैनल की मंजूरी         # गुजरात चुनाव: कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, 77 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान         # दीपिका पादुकोण को जिंदा जलाने पर रखा 1 करोड़ का इनाम         # कश्मीर घाटी में लश्कर के शीर्ष नेतृत्व का सफाया: सेना         # आसमान छू रहे अंडों के दाम, चिकन के बराबर पहुंची कीमतें         # महाराष्ट्र: सड़क किनारे टॉयलेट करते पकड़े गए जल संरक्षण मंत्री राम शिंदे         # चीन में नए भारतीय राजदूत के रूप में आज कार्यभार ग्रहण करेंगे बंबावले         # ICJ चुनाव में भारत को रोकने के लिए ब्रिटेन ने चली गंदी चाल        
News Description
आर्यन के हत्याआरोपी को गिरफ्तार किया करनाल स्टेशन से

आर्यन के हत्याआरोपी को गिरफ्तार किया करनाल स्टेशन से 
पिछले माह आर्यन का अपहरण कर हत्या कर दी थी आरोपी ने 
करनाल, 
करनाल पुलिस की सीआईए टीम ने बहुचर्चित आर्यन का अपहरण कर उसकी हत्या करने के आरोप में आरोपी को करनाल रेलवे स्टेशन पर दबोच लिया। गत १७ अप्रैल को  थाना असंध क्षेत्र के गांव पोपड़ा का रहने वाला एक ५ वर्षीय बच्चा  आर्यन घर से बाहर खेलते हुए निकला जो वापस लौट कर नहीं आया । घर वालों ने आर्यन की तलाश शुरू की आस-पड़ोस और गांव में काफी ढ़ूंढ़ा लेकिन उसका कहीं पता नही चला । तलाश करते-करते रात हो गई। गांव का हर व्यक्ति आर्यन के पिता सरवर को हौंसला दे रहा था व हमदर्दी जता रहा था । अगले दिन मामले की जानकारी पुलिस को दी गई । पुलिस ने छानबीन व पूछताछ शुरू की और उसके पिता की शिकायत पर अपहरण की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया । इसी बीच आर्यन की मां सुनीता के फोन पर एक अज्ञात नंबर से फोन आया कि यदि अपने बेटे को जिंदा देखना चाहते हो तो जल्द से जल्द ५ लाख रूपयों का इंतजाम कर लो वह दौबारा फोन करेगा । यह मामला जैसे ही एस.पी जषनदीप सिंह रंधावा  के संज्ञान में आया तो उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत करनाल पुलिस की क्राइम युनिट सी.आई.ए वन इंचार्ज उप-निरीक्षक बिजेन्द्र सिंह को सौंपकर मामले की तह तक जाकर आरोपी को जल्द से जल्द गिरफतार करने के आदेश दिए । जिस पर बिजेन्द्र सिंह ने ए.एस.आई. रामफल की अध्यक्षता में पुलिस टीम को गांव पोपड़ा के लिए रवाना किया । इसी बीच गांव पोपड़ा में आर्यन के घर के सामने गली में बनी मोबाईल रिपेयर की एक दुकान से बहुत बुरी तरह से बदबू आ रही थी । पुलिस भी गांव में ही मौजूद थी, पुलिस टीम ने गांव सरपंच और गणमान्य व्यक्तियों को बुलाकर दूकान का सटर तोड़कर उसमें से एक कटृटा निकाला जिसमें से बदबू आ रही थी । पुलिस ने कटृटे का मुंह खोला तो उसमें से आर्यन की लाश मिली । पूरे गांव ने जैसे शौक की चादर ओढ़ ली और दूकान का मालिक गांव से फरार हो चुका था ।   ए.एस.आई. रामफल व उनकी टीम ने आर्यन के हत्यारे व दुकान के मालिक की तलाश शुरू की और पिछले दिनों उन्होंने व उनकी टीम ने आर्यन के हत्यारे व दूकान के मालिक मनीष जो गांव पोपड़ा का ही रहने वाला है को दिल्ली से लौटते समय करनाल रेलवे स्टेशन से गिरफतार किया । पुलिस द्वारा पुछताछ करने पर उसने बताया कि १७.०४.१७ को उसने गली में खेल रहे आर्यन को अपने पास दुकान में बुलाकर उसके हाथ व पैरों को बांधकर उसके मुंह पर टेप लगा दी व उसे दुकान में पड़े एक कटृटे में डालकर काउंटर में छुपा दिया और अपने घर चला गया । सुबह उसने उठकर गांव से बाहर खेतों में जाकर उसकी मां सुनिता के फोन पर एक फैक आई.डी. के नंबर से फोन करके ५ लाख रूपयों की मांग की । उसके बाद उसने दुकान पर आकर दूकान खोलकर कटृटे में देखा तो तब तक आर्यन मर चुका था । आर्यन को मरा हुआ देखकर वह वहां से भाग निकला । पुलिस टीम द्वारा आरोपी को अदालत के सामने पेशकर पूछताछ के लिए ३ दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया । दौराने पुछताछ पुलिस द्वारा आरोपी से वारदात को अंजाम देते समय प्रयोग किया गया मोबाईल फोन व उसके नंबर को खरीदने में उपयोग की गई आई.डी. बरामद की जाएगी । आरोपी से हत्या के असल कारणों की वजह के बारे भी पुछताछ की जाएगी, कि उसने केवल पैसे के लिए या किसी अन्य रंजिष के चलते आर्यन की हत्या की