News Description
कचरा उठाने के लिए खरीदे जाएंगे सोलर ई-रिक्शा

जिले की सभी नगर परिषदों और नगर पालिकाओं को प्रयोग के तौर पर एक-एक सोलर ई-रिक्शा उपलब्ध कराया जाएगा। ये सोलर ई-रिक्शा किफायती होंगे और शहर की संकरी गलियों से भी कूड़ा संग्रहण किया जा सकेगा। यह जानकारी एडीसी शुक्रवार ने डीआरडीए कार्यालय में नगर परिषद और नगर पालिकाओं के अधिकारियों को यह जानकारी दी। यह बैठक शहर की स्वच्छता और सुंदरता बढ़ाने के लिए आयोजित की गई थी।

एडीसी धीरेंद्र खडगटा ने कहा कि प्रयोग के तौर पर प्रत्येक नगर परिषद और नगर पालिका को सौर ऊर्जा से चलने वाले ई-रिक्शा उपलब्ध कराए जाएंगे। इसमें दो भाग हैं। एक में तरल कूड़ा इकट्ठा होता तो दूसरे में ठोस कचरा। इस प्रकार कूड़ा संग्रहण करते वक्त ही ठोस और तरल कूड़े की छंटाई हो जाएगी। उसमें कूड़े को उठाकर रिक्शे में डालने तथा रिक्शे से कूड़े का निस्तारण करने की भी सुविधा है। इससे मैन पावर भी कम प्रयोग होगी। इसका रखरखाव भी महंगा नहीं है। सौर ऊर्जा से चलने के कारण यह काफी किफायती भी होगी। प्रथम चरण में इसे प्रयोग के तौर पर प्रयुक्त किया जाएगा।

नगर परिषद और नगर पालिका के अधिकारियों ने एडीसी को बताया कि कस्बे में होर्डिग, पोस्टर आदि लगाने के लिए जगह चिह्नित की गई है। नगर परिषद अथवा नगर पालिकाओं ने प्रचार के लिए होर्डिग आदि भी लगवाए हैं। कोई भी व्यक्ति निर्धारित शुल्क देकर इन होर्डिग पर अपने पोस्टर-बैनर आदि लगा सकता है। एडीसी ने कहा कि कोई भी व्यक्ति निर्धारित जगह को छोड़कर अन्य जगह पोस्टर, बैनर आदि लगाकर सरकारी संपति को गंदा करता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।