News Description
हरियाणा मॉनसून: प्रदेश में हुई तेज बारिश, गड्‌ढों में गिरते रहे वाहन

सावन माह लगने के 13 दिन बाद गुरुवार को प्रदेश में काली घटा छाई। इससे आधे हरियाणा में अच्छी बरसात और आधे में बूंदाबांदी हुई। भिवानी के बहल में सबसे ज्यादा 125 एमएम पानी गिरा। जींद के जुलाना में 80, सोनीपत के गन्नौर में 55 एमएम पानी गिरा।हिसार जिले में औसतन 47, फरीदाबाद में 21.7, फतेहाबाद में 14, रोहतक में 12, सिरसा में 10, पानीपत में 9.8, झज्जर में 7, गुड़गांव में 6.4 एमएम वर्षा रिकॉर्ड की गई। बाकी जिलों में बूंदाबांदी हुई। दिन का पारा 6.4 डिग्री तक गिर गया। करनाल में यह 37.4 से घटकर 31 डिग्री पर गया। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में शुक्रवार को भी बारिश के आसार हैं। 1 जून से 20 जुलाई तक प्रदेश में 171.5 एमएम बरसात हो चुकी है। इस अवधि में सामान्यत: 146.7 एमएम बारिश होती है।

 
सड़कों में भर गया पानी
मानसून की बारिश से शहर के लोगों को गर्मी से राहत तो मिली। मगर जिंदल चौक से इंडस्ट्रियल एरिया और सैनियान मोहल्ले समेत कई इलाकों में जलभराव के कारण कई दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा। इंडस्ट्रियल एरिया में सड़कों पर पानी भरने और गड्ढे होने के कारण सीमेंट के कट्टों से भरी एक ट्राॅली पलट गई। पानी से भरे गड्ढों में कई दुपहिया वाहन चालक असंतुलित होकर गिरे। ऐसे में कई जगह विभाग के दावे फेल साबित हुए। मौसम विभाग के अनुसार शहर में बुधवार से गुरुवार तक 47.1 एमएम बारिश हुई।
 
शहर के कई हिस्से पूरी तरह से हुए जलमग्न
क्षेत्र में बुधवार से ही रुक-रुककर बारिश हो रही थी। गुरुवार सुबह साढ़े आठ बजे तक शहर के हिस्सों में 31.2 एमएम बारिश हो चुकी थी। इसके बाद यहां पर 15.9 एमएम बारिश हुई। इसके कारण शहर के कई हिस्से पूरी तरह से जलमग्न हो गए। सैनियान मोहल्ला, आॅटो मार्केट, फव्वारा चौक, कैमरी रोड, कैंप चौक, पीएलए, डाबड़ा चौक, माॅडल टाउन, जिंदल चौक, इंडस्ट्रियल एरिया, शांति नगर, संत नगर, महता नगर, ढाणी बड़वाली में सड़कें पानी में डूब गई।