News Description
बिजली रेट व फसल बीमा में बढ़ोतरी वापस लेने की माग

ऑल इडिया किसान खेत मजदूर संगठन ने सरकार के कई जनविरोधी निर्णयों को लेकर गाव माडोठी में बैठक की। बैठक में कार्यकर्ताओं ने बिजली के रेट 25 से 75 पैसे प्रति यूनिट, प्रधानमंत्री फसल बीमा में 80 रुपये प्रति एकड़ बढ़ाने व फसल खराब के आकलन के लिए एक एकड़ की बजाय पूरे गाव इकाई बनाने की कड़े शब्दों में निंदा की गई।

प्रदेश कमेटी सचिव जयकरण ने कहा कि किसानों के साथ-साथ पहले ही आमजन महगाई से परेशान है। बिजली पहले ही महगी है और अब फिर से इसके रेटों में इजाफा करके आम आदमी की पहुच से बाहर करने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा किसान हितैषी होने का दम तो खूब भर रही है लेकिन किसानों को राहत देने का काम नहीं कर रही। किसान विरोधी नीतिया लागू करके उन्हे परेशान किया जा रहा है। किसानों के फसलों के दाम नहीं मिल रहे और वे दिन प्रतिदिन कर्ज में डूबते जा रहे है। खेत मजदूरों को सालभर काम नहीं मिल रहा।