News Description
ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

 डीआरडीए प्रशिक्षण हाल में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (आजीविका) के तहत विगत दिनों स्वयं सहायता समूहों की सक्रिय महिलाओं के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान ग्राम संगठन कटकई तथा सेका का उदाहरण देकर महिलाओं को प्रोत्साहित किया।  

     इस मौके पर डीआरडीए के परियोजना अधिकारी गोविंद राम शर्मा ने महिलाओं से आह्वान किया कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन भारत सरकार का ग्रामीण महिलाओं के सशक्तिकरण का एक उत्कृष्ट मिशन है। आजीविका के अंतर्गत सेका गांव में रूई से धागा बनाने का प्रशिक्षण देने के लिए 13500 रुपए की मशीन मंगाई गई थी रूई से धागा बनाने के कार्य का 15 महिलाओं को प्रशिक्षण किया जा चूका है। अब वे महिलाएं समूह से लोन लेकर अपनी-अपनी मशीने खरीद कर रूई से धागा बनाने का कार्य शरू करेंगी। 

   उन्होंने बताया कि जिला स्तर पर भी फेडरेशन का गठन होगा जिसकी उप समितिया होगी। इनमें आजीविका समिति, सामाजिक विकास समिति, ऋण समिति तथा स्वास्थय समिति शामिल हैं। इन सभी फेडरेशन का गठन होने के बाद और इनका सफलतापूर्वक कार्य करना शुरू करने के बाद इनका सीधा संपर्क भारत सरकार से हो जाएगा। जिला फेडरेशन अपने स्तर पर ही आजीविका मिशन को चलाएगा।