News Description
अमेरिका से लौटी WWE रेसलर, बोलीं- इसलिए लड़ी कुर्ती और सलवार में

डब्लूडब्लूई के रिंग में उतरने वाली पहली भारतीय महिला कविता दलाल सोमवार को अपने गांव मालवी पहुंची। कविता दलाल का जुलाना व मालवी गांव में जबरदस्त स्वागत किया गया। जुलाना में पुराने बस स्टैंड से खुली जीप में बिठाकर ढोल-नगाड़ों व बाइक के जत्थों के साथ उन्हें मालवी गांव में ले जाया गया, जहां पर ग्रामीणों ने फूल-मालाओं व रुपयों से उनका स्वागत किया। इस दौरान कविता ने कुर्ता-सलवार में फाइट करने के पीछे अपनी अलग पहचान और देश की संस्कृति को बताया। 32 रेसलर ने लिया था फाइट में हिस्सा....

 
 
- अमेरिका के फ्लोरिडा में 13 व 14 जुलाई को हुई इस इवेंट में विश्व की 32 रेसलर्स ने भाग लिया था। यह इवेंट सिंगल एलिमिनेशन पर आधारित था। इस इंवेट में कविता ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था। कविता दलाल को इस प्रदर्शन से उम्मीद है कि उसका चयन सितंबर माह में होने वाले डब्लूडब्लूई के दूसरे चरण के लिए हो जाएगा।
 
 
स्वागत करने बच्चे भी पहुंचे
- सोमवार को जुलाना व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मालवी में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सैकड़ों ग्रामीणों व स्कूली बच्चों ने भाग लिया। 
- कविता दलाल को जुलाना के पुराना बस स्टैंड से खुली जीप में बिठाकर ढोल-नगाड़ों के साथ जुलाना मैन बाजार से मालवी गांव तक ले जाया गया, जहां पर महिलाओं एवं ग्रामीणों ने उनका स्वागत किया। कविता दलाल के साथ उनकी सास कामदेवी व ससुर बिजेंद्र तोमर मौजूद थे।