# कारगिल विजय दिवस पर मोदी और जेटली ने दी श्रद्धांजलि         # मनाली में रोहतांग सुरंग के निकट फटा बादल, सड़क बही         # ब्रिटेन मे भारतीय मूल की मुस्लिम युवती की हत्या          # सहारा ग्रुपः सुप्रीम कोर्ट ने 1500 करोड़ रुपये जमा कराने का दिया आदेश         # सरकार ने खत्म किया भारत में ड्राइवरलैस कार का सपना         # भारत ने रिहा किए दस पाकिस्तानी कैदी         # पीएम ने किया बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे, 500 करोड़ राहत पैकेज का एेलान         # 9982 पर निफ्टी, सेंसेक्स में दिखी 45 अंकों की तेजी         # चीन के पीछे हटने पर ही डोकलाम से हटेगी भारत की सेना         # राष्ट्रपति ने नेहरू का जिक्र न किया तो भड़क गई कांग्रेस         दिल्ली कोर्ट ने शब्बीर शाह को 7 दिन की ED रिमांड पर भेजा          # श्रीलंका के खिलाफ दोहरे शतक से चूके शिखर         सोनीपत विधानसभा क्षेत्र के लोग अपने विधायक से सबसे ज्यादा खुश-सर्वे रिपोर्ट        
News Description
मुख्य ग्रंथी की फतेहगढ़ में हत्या, अलीका में हुआ अंतिम संस्कार

गांव अलीका निवासी 38 वर्षीय मुख्य ग्रंथी प्यारा सिंह का पंजाब के फतेहगढ़ साहिब स्थित गुरुद्वारा में एक निहंग ने सिर कलम कर गुरुद्वारा साहिब की सीढ़ियों में रख दिया। घटना वीरवार की है। मृतक ग्रंथी प्यारा सिंह गांव अलीका की भगत सिंह ढाणी का रहने वाला था। पिछले कुछ साल से वह पंजाब के फतेहगढ़ साहिब के एक गुरुद्वारा में मुख्य ग्रंथी के तौर पर सेवा कर रहा था। शनिवार को पुलिस ने मृतक प्यारा सिंह के शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया। देर शाम गांव अलीका में मृतक का अंतिम संस्कार किया गया। हत्या का कारण आपसी रंजिश बताई जा रही है।
 
गुरुद्वारे में उत्तराधिकार को लेकर दो गुट बने हुए थे। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। मामले की जांच फतेहगढ़ साहिब के एसपीडी बलजीत सिंह राणा कर रहे हैं। पुलिस के अनुसार मृतक रतिया के गांव अलीका निवासी प्यारा सिंह पिछले कुछ सालों से गुरुद्वारा दीवान गढ़ साहिब में मुख्य ग्रंथी के तौर पर सेवा कर रहा था। वहीं पर बसी पठाना के गांव लौहारी निवासी निहंग चरणजीत सिंह भी रह रहा था। किसी बात को लेकर प्यारा सिंह चरणजीत सिंह में आपसी तकरार हो गई। आरोप है कि इसी रंजिश में आरोपी चरणजीत सिंह ने गंडासी से ग्रंथी प्यारा सिंह का सिर धड़ से काट कर अलग कर दिया।
धड़ को लहूलुहान हालत में छोड़कर आरोपी मृतक प्यारा सिंह के सिर को उठाकर गुरुद्वारा की सीढिय़ों में रख दिया और आरोपी खुद गुरुद्वारा की छत पर चढ़ गया।
 
गुरुद्वारा में सिर धड़ को अलग-अलग लहुलुहान हालत को देखकर आस पास के श्रद्धालुओं ने सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलने पर फतेहगढ़ साहिब के एसपीडी बलजीत सिंह राणा मौके पर पहुंचे। आरोपी काफी गुस्से में था। पुलिस ने चार घंटे की मशक्कत के बाद आरोपी चरणजीत सिंह को छत से नीचे उतारा और उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया।