# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
एसवाइएल पर पंजाब के नेताओं की बयानबाजी पर इनेलो ने उठाए सवाल

 सतलुज-यमुना लिंक नहर (एसवाइएल) पर पंजाब के सियासी दलों की बयानबाजी पर इनेलो ने सवाल उठाए हैं। विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर मामले मेें हस्तक्षेप करने की गुजारिश की है।

चौटाला ने कहा कि पंजाब में कुछ सियासी दल सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों की उल्लंघन कर माहौल को बिगाडऩे का प्रयास कर रहे हैं। अदालत का साफ निर्देश है कि इस मामले में कोई प्रदर्शन या आंदोलन नहीं किया जाए। इसके बावजूद पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्र्रकाश सिंह बादल ने सार्वजनिक रूप से फिर बयान जारी कर दिया कि पंजाब हरियाणा को एक भी बूंद पानी नहीं देगा। इसी तरह लोक इंसाफ पार्टी ने भी नहर बनाने की स्थिति में जेल भरो आंदोलन छेडऩे का एलान किया है।

चौटाला ने कहा कि दोनों राज्यों के एडवोकेट जनरलों ने अदालत को विश्वास दिला रखा है कि निर्देेशों का पालन कराया जाएगा। इसके बावजूद पड़ोसी राज्य में सियासी दलों की बयानबाजी तनाव को बढ़ाने वाली है। इसके विपरीत हरियाणा में सभी राजनीतिक दल इस पर सहमत हैं कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दी गई डिक्री का तुरंत पालन होना चाहिए। प्रधानमंत्री पंजाब के मुख्यमंत्री पर दबाव बनाएं ताकि कोई ऐसा कदम वहां न उठाया जाए जिसकी विपरीत प्रतिक्रिया हरियाणा में हो।