# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
प्रथम दिन 170 अध्यापकों को भेजा स्कूलों में

 जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में शुक्रवार को नवचयनित जेबीटी अध्यापकों की काउंसि¨लग करके स्कूल अलॉट करने की प्रक्रिया शुरू हुई। प्रथम दिन 170 अध्यापकों को स्कूलों में भेजा गया। स्कूलों में भेजे जाने पर अध्यापकों के चेहरे पर रौनक लौट आई। इससे पहले जेबीटी अध्यापकों की जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. यज्ञदत वर्मा की अध्यक्षता में गठित कमेटी ने काउसि¨लग की।

गौरतलब है कि जिले में शिक्षा विभाग ने 533 अध्यापकों को नियुक्ति दी थी। जिसमें स्कूलों में स्वीकृत पद कम होने पर 160 अध्यापकों को स्कूलों में भेजा गया। इसके बाद नियुक्ति नहीं मिलने वाले जेबीटी अध्यापक बार बार शिक्षा विभाग के अधिकारियों के पास चक्कर काट रहे थे। शिक्षा विभाग ने जिले में जेबीटी अध्यापकों की रेशनलाइजेशन करते हुए 482 नए पदों की स्वीकृत दे दी है। जिले में 523 राजकीय प्राथमिक स्कूल हैं। जिनमें पहले 2226 पद स्वीकृत थे। नए पद स्वीकृत करने से 2708 संख्या हो गई है।नवचयनीत जेबीटी अध्यापकों की 2 मई को जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में नियुक्ति कर दी गई थी। इसके बाद अध्यापकों को स्कूल अलॉट नहीं किए जाने पर घर बैठे हुए थे। शुक्रवार को जैसे ही काउंसि¨लग कर स्टेशन अलॉट किए गये अध्यापकों के चेहरे पर खुशी लौट आई। जिस भी अध्यापक को स्टेशन मिला दूसरे अध्यापकों ने बधाई दी।