News Description
हौसलों से उड़ान नामक कार्यक्रम से किया लोगों को जागरूक

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी विवेक यादव के तत्वाधान में एसिड अटैक पर चलाए जा रहे अभियान हौसलों से उड़ान नामक कार्यक्रम के तहत आज जिला बाल कल्याण अधिकारी (ग्रामीण) कार्यालय में लोगों को एसिड अटैक के बारे में जागरूक किया। 
इस मौके पर कार्यालय की जिला बाल कल्याण अधिकारी संतोष यादव ने भी एसिड अटैक को महिलाओं के मान सम्मान पर एक कलंक बताया। उन्होंने एसिड अटैक से पीडि़त व्यक्ति के प्राथमिक उपचार पर भी जोर दिया।
अधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि एसिड अटैक वर्तमान का एक घिनौना अपराध बन गया है। इस पर काबु पाने के लिए कानून में भी 326-ए आईपीसी की धारा के तहत 10 साल से उम्र कैद और 326-बी के तहत कम से कम 5 साल तक की कड़ी सजा का प्रावधान किया गया है। 
इस अवसर पर उपस्थित कानूनी स्वयं सेवक जय शेखावत, संजय कुमार एवं राजेंद्र सिहं, प्रियंका, संतोष, पुनम, लक्ष्मी, ज्योति, चंपा देवी, पुष्पा व उषा समेत अनेक गणमान्य लोगों ने एसिड अटैक के प्रति लोगों को जागरूक करने की शपथ ली। 
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी विवेक यादव के तत्वाधान में एसिड अटैक पर चलाए जा रहे अभियान हौसलों से उड़ान नामक कार्यक्रम के तहत आज जिला बाल कल्याण अधिकारी (ग्रामीण) कार्यालय में लोगों को एसिड अटैक के बारे में जागरूक किया। 
इस मौके पर कार्यालय की जिला बाल कल्याण अधिकारी संतोष यादव ने भी एसिड अटैक को महिलाओं के मान सम्मान पर एक कलंक बताया। उन्होंने एसिड अटैक से पीडि़त व्यक्ति के प्राथमिक उपचार पर भी जोर दिया।
अधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि एसिड अटैक वर्तमान का एक घिनौना अपराध बन गया है। इस पर काबु पाने के लिए कानून में भी 326-ए आईपीसी की धारा के तहत 10 साल से उम्र कैद और 326-बी के तहत कम से कम 5 साल तक की कड़ी सजा का प्रावधान किया गया है। 
इस अवसर पर उपस्थित कानूनी स्वयं सेवक जय शेखावत, संजय कुमार एवं राजेंद्र सिहं, प्रियंका, संतोष, पुनम, लक्ष्मी, ज्योति, चंपा देवी, पुष्पा व उषा समेत अनेक गणमान्य लोगों ने एसिड अटैक के प्रति लोगों को जागरूक करने की शपथ ली।