# कारगिल विजय दिवस पर मोदी और जेटली ने दी श्रद्धांजलि         # मनाली में रोहतांग सुरंग के निकट फटा बादल, सड़क बही         # ब्रिटेन मे भारतीय मूल की मुस्लिम युवती की हत्या          # सहारा ग्रुपः सुप्रीम कोर्ट ने 1500 करोड़ रुपये जमा कराने का दिया आदेश         # सरकार ने खत्म किया भारत में ड्राइवरलैस कार का सपना         # भारत ने रिहा किए दस पाकिस्तानी कैदी         # पीएम ने किया बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे, 500 करोड़ राहत पैकेज का एेलान         # 9982 पर निफ्टी, सेंसेक्स में दिखी 45 अंकों की तेजी         # चीन के पीछे हटने पर ही डोकलाम से हटेगी भारत की सेना         # राष्ट्रपति ने नेहरू का जिक्र न किया तो भड़क गई कांग्रेस         दिल्ली कोर्ट ने शब्बीर शाह को 7 दिन की ED रिमांड पर भेजा          # श्रीलंका के खिलाफ दोहरे शतक से चूके शिखर         सोनीपत विधानसभा क्षेत्र के लोग अपने विधायक से सबसे ज्यादा खुश-सर्वे रिपोर्ट        
News Description
हौसलों से उड़ान नामक कार्यक्रम से किया लोगों को जागरूक

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी विवेक यादव के तत्वाधान में एसिड अटैक पर चलाए जा रहे अभियान हौसलों से उड़ान नामक कार्यक्रम के तहत आज जिला बाल कल्याण अधिकारी (ग्रामीण) कार्यालय में लोगों को एसिड अटैक के बारे में जागरूक किया। 
इस मौके पर कार्यालय की जिला बाल कल्याण अधिकारी संतोष यादव ने भी एसिड अटैक को महिलाओं के मान सम्मान पर एक कलंक बताया। उन्होंने एसिड अटैक से पीडि़त व्यक्ति के प्राथमिक उपचार पर भी जोर दिया।
अधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि एसिड अटैक वर्तमान का एक घिनौना अपराध बन गया है। इस पर काबु पाने के लिए कानून में भी 326-ए आईपीसी की धारा के तहत 10 साल से उम्र कैद और 326-बी के तहत कम से कम 5 साल तक की कड़ी सजा का प्रावधान किया गया है। 
इस अवसर पर उपस्थित कानूनी स्वयं सेवक जय शेखावत, संजय कुमार एवं राजेंद्र सिहं, प्रियंका, संतोष, पुनम, लक्ष्मी, ज्योति, चंपा देवी, पुष्पा व उषा समेत अनेक गणमान्य लोगों ने एसिड अटैक के प्रति लोगों को जागरूक करने की शपथ ली। 
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी विवेक यादव के तत्वाधान में एसिड अटैक पर चलाए जा रहे अभियान हौसलों से उड़ान नामक कार्यक्रम के तहत आज जिला बाल कल्याण अधिकारी (ग्रामीण) कार्यालय में लोगों को एसिड अटैक के बारे में जागरूक किया। 
इस मौके पर कार्यालय की जिला बाल कल्याण अधिकारी संतोष यादव ने भी एसिड अटैक को महिलाओं के मान सम्मान पर एक कलंक बताया। उन्होंने एसिड अटैक से पीडि़त व्यक्ति के प्राथमिक उपचार पर भी जोर दिया।
अधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि एसिड अटैक वर्तमान का एक घिनौना अपराध बन गया है। इस पर काबु पाने के लिए कानून में भी 326-ए आईपीसी की धारा के तहत 10 साल से उम्र कैद और 326-बी के तहत कम से कम 5 साल तक की कड़ी सजा का प्रावधान किया गया है। 
इस अवसर पर उपस्थित कानूनी स्वयं सेवक जय शेखावत, संजय कुमार एवं राजेंद्र सिहं, प्रियंका, संतोष, पुनम, लक्ष्मी, ज्योति, चंपा देवी, पुष्पा व उषा समेत अनेक गणमान्य लोगों ने एसिड अटैक के प्रति लोगों को जागरूक करने की शपथ ली।