News Description
कृमि नाशक दवा दी जाएगी नि:शुल्क

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के प्रथम चरण में 24 अगस्त को हरियाणा के सभी जिलों के सरकारी, मान्यता प्राप्त तथा निजी स्कूलों, आँगनवाड़ी केन्द्रों, गैर-स्कूली बच्चों यानि ईंटों  तथा ढाबों इत्यादि में काम करने वाले 1 से 19 वर्ष तक के लगभग 78 लाख बच्चों को कृमि नाशक दवा नि:शुल्क दी जाएगी।

यह दवा सभी स्कूलों और आँगनवाड़ी केन्द्रों में मुफ्त खिलाई जाएगी और 24 अगस्त को छूट गये बच्चों को 28 अगस्त को यह दवा खिलाई जाएगी। यह कार्य शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, पंचायती राज तथा जनस्वास्थ्य जैसे अन्य सहायक विभागों के सहयोग से पूरा किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अमित झा ने आज यहां विभिन्न विभागों के साथ एक राज्य स्तरीय बैठक के दौरान बताया कि केन्द्र सरकार ने ‘कृमि से छुटकारा, सेहतमंद जीवन हमारा’ स्लोगन के अंर्तगत समस्त भारत के 1-19 वर्ष के बच्चों को कृमि मुक्त करने के लिए एक विशेेष दिवस मनाने का फैसला लिया है।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस मनाने का निश्चय मिट्टी संचरित पेट के कीड़ों की समस्या को खत्म करने की दिशा में उठाया गया कदम है। कृमि मुक्ति दिवस समस्त भारत में अगस्त व फरवरी माह में मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि बच्चों में अधिक कृमि होने से जी मिचलाना, दस्त, पेट दर्द, कमजोरी, भूख न लगना जैसे लक्षण हो सकते हं। बच्चों के पेट में कीड़ों से कई प्रकार की बीमारियां हो जाती हं जैसे खून की कमी होना, थकावट होना, पढ़ाई में मन न लगना आदि। इसलिए हमें बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर सजग रहना चाहिए ताकि वे स्वस्थ रहकर अच्छे से पढ़ाई कर सकें।