News Description
किसान महापंचायत 21 को, देश भर से जुटेंगे किसान

अखिल भारतीय स्वामीनाथन संघर्ष समिति का लघु सचिवालय में धरना 31वें दिन भी जारी रहा। धरने पर मौजूद किसानों ने फैसला लिया कि अगर सरकार तय सीमा में बलविंद्र सिहाग के परिवार को मुआवजा व सरकारी नौकरी नहीं देती तो 21 जुलाई को उपायुक्त कार्यालय पर महापंचायत व शोक सभा की जाएगी। महापंचायत में देश भर से प्रमुख किसान नेता व हरियाणा के जिलों से किसान पहुंचेंगे। संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकल पचार ने भालाराम सिहाग को अखिल भारतीय विकल पचार ने कहा कि धरने को 31 दिन गुजर चुके है। इस दौरान 25 किसान बीमार हो चुके हैं। हरियाणा सरकार और जिला प्रशासन का रूख किसानों के लिए नकारात्मक है। अगर सरकार का रूख जारी रहा तो हरियाणा का किसान आंदोलन बड़ा रूप ले लेगा, जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। किसानों को संबोधित करते हुए प्रकाश ममेरा ने कहा कि आज देश का किसान और जवान मर रहा है और केंद्र सरकार गाय और धर्म पर अटकी हुई है। आजादी के बाद सबसे बड़ी किसान विरोधी सरकार सत्ता में है। आज देश के किसान अपने स्वाभिमान की लड़ाई लड़ रहा है।