# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
12 जुलाई से 15 जुलाई तक मध्यम बारिश की जताई संभावना

 चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार के कृषि मौसम विज्ञान विभाग द्वारा जारी किए गए मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक हरियाणा में 12 जुलाई से 15 जुलाई तक मौसम परिवर्तनशील रहने तथा हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई गई है। 
इस सम्बन्ध में विश्वविद्यालय प्रवक्ता ने बताया कि इस दौरान अधिकतम तापमान 35.0 से 38.0 डिग्री सेल्सियस के मध्य और न्यूनतम तापमान 25.0 से 28.0 डिग्री सेल्सियस के मध्य रहने की संभावना है। हवा में 60 से 80 प्रतिशत आद्रता रहने की सम्भावना है। इसके अलावा 6 से 14 किलोमीटर प्रति घण्टा के मध्य हवाएं चलने की संभावना है। 
कृषि मौसम विज्ञान विभाग ने सम्भावित मौसम के आधार पर किसानों को सलाह दी है कि वे धान की नर्सरी लगाना जारी रखें। धान में बकानी रोग से बचाव के लिए धान की रोपाई के 7 दिन पहले कार्बेन्डाजिम 1 ग्राम/प्रतिवर्ग मीटर की दर से रेत में मिलाकर नर्सरी में एक साथ बिखेरें और इस बात का ध्यान रखें कि नर्सरी में उथला पानी हो। पौध की रोपाई अधिक गहरी न करें।
किसानों को सलाह दी गई है कि नरमा कपास में निराई-गुड़ाई कर खरपतवार निकालें तथा नमी संचित करें। नरमा कपास में वातावरण में ज्यादा नमी होने से सफेद मक्खी का प्रकोप हो सकता है। अगर सफेद मक्खी दिखाई दे तो मौसम साफ रहने पर ही नीम आधारित एक लीटर निम्बिसीडीन को 250 लीटर पानी में घोल बनाकर प्रतिएकड़ छिडक़ाव करें।