# रक्षा मंत्रालय ने इजरायल के साथ रद्द की 500 मिलियन डॉलर की मिसाइल डील         # कालेधन पर भारत को जानकारी देंगे स्विस बैंक, पैनल की मंजूरी         # गुजरात चुनाव: कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, 77 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान         # दीपिका पादुकोण को जिंदा जलाने पर रखा 1 करोड़ का इनाम         # कश्मीर घाटी में लश्कर के शीर्ष नेतृत्व का सफाया: सेना         # आसमान छू रहे अंडों के दाम, चिकन के बराबर पहुंची कीमतें         # महाराष्ट्र: सड़क किनारे टॉयलेट करते पकड़े गए जल संरक्षण मंत्री राम शिंदे         # चीन में नए भारतीय राजदूत के रूप में आज कार्यभार ग्रहण करेंगे बंबावले         # ICJ चुनाव में भारत को रोकने के लिए ब्रिटेन ने चली गंदी चाल        
News Description
पैसे चार गुना होने के लालच में लाखों रुपए का चूना, कंपनी के एमडी का पता नहीं

पानीपत।तीन साल में पैसे 4 गुना होने और नया ग्राहक लाने पर दस प्रतिशत कमीशन के चक्कर में लोग मोटी रकम कंपनी में लगा बैठे। अब लोग कंपनी के एमडी के पीछे घूम रहे हैं। उन्हें तो एमडी मिल रहा और ही पैसे। जिन्हें चेक मिले वे बाउंस हो गए। मंगलवार को जगाधरी बस स्टैंड चौक स्थित राधेश्याम गोल्ड इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के ऑफिस में निवेशकों ने हंगामा किया।

ये निवेश करनाल, कुरुक्षेत्र और पंजाब से पहुंचे थे। उन्होंने कंपनी का शटर गिरा दिया और कर्मचारियों को बाहर निकाल दिया। इससे विवाद बड़ा तो मामला थाने पहुंच गया। दोनों पक्ष जगाधरी शहर थाने में पहुंचे। निवेशकों ने पुलिस में शिकायत दी। जिसमें कहा कि कंपनी का ऑफिस जगाधरी, कुरुक्षेत्र, शामली, मेरठ, नजीबाबाद, अकबरपुर और काशीपुर में है। एमडी विक्रम सिंह चौहान कुरुक्षेत्र के हैं। कई बार उनके घर पर भी गए, लेकिन वे वहां पर भी नहीं मिले। पटियाला निवासी मंदीप सिंह, कुलदीप, करनाल निवासी संजय और शाहबाद निवासी प्रदीप ने बताया कि कंपनी से जब उनका संपर्क हुआ तो उन्हें बताया गया था कि पांच हजार रुपए देने पर कंपनी की ओर से उन्हें 21 हजार रुपए तीन साल में वापस किए जाएंगे। इसके अलावा पांच हजार रुपए देकर 50 हजार रुपए के गोल्ड या सिल्वर की बुकिंग भी कराने की सुव िधा दी थी। शिकायत देने पहुंचे निवेशकों का दावा है कि 20 हजार से ज्यादा लोगों के पैसे लगे हुए हैं। वहीं शहर जगाधरी थाना प्रभारी सचिन कुमार का कहना है कि मामले की जांच के बाद ही कार्रवाई होगी। वहीं कंपनी के जीएम पवन कुमार का कहना है कि यह मामला एमडी लेवल का है। 
आरोपियों में एक महिला भी शामिल, पुलिस मामले की जांच में जुटी