News Description
कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में सरस्वती महोत्सव पर अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

चंडीगढ़, 12 जनवरी- कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र में 19 जनवरी से 20 जनवरी तक सरस्वती पर अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया जाएगा, जिसमें 43 शोधार्थी भाग लेंगे। इसके अतिरिक्त इस संगोष्ठी में 5 देशों के प्रतिनिधि भी हिस्सा लेंगे। मुख्यमंत्री के साथ-साथ अनेक वीवीआईपी महोत्सव में शिरकत करेंगें।
एक सरकारी प्रवकत्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि सरस्वती महोत्सव का आगाज 18 जनवरी को सरस्वती के उदगम स्थल आदि बद्री में हवन यज्ञ के साथ होगा। सरस्वती महोत्सव का इतने बड़े स्तर पर पिहोवा में आयोजन पहली बार हो रहा हैं। इस महोत्सव के संबंध में तैयारियां की जा रही है। इस अवसर पर अंबाला मंडल के आयुक्त विवेक जोशी ने तैयारियों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए, महोत्सव में पहुंचने वाले किसी भी श्रृद्धालु व पर्यटक को असुविधा नहीं होनी चाहिए। महोत्सव के दौरान सभी स्थलों पर सफाई व्यवस्था व शौचालयों का पूरा प्रबंध होना चाहिए। 
उनहोंने कहा कि सरस्वती महोत्सव की तैयारियों को लेकर सम्बंधित अधिकारियों की कमेटियां गठित कर दी गई हैं। पिहोवा सरस्वती तीर्थ के सौंदर्यकरण तथा जीर्णोद्धार का कार्य तेज गति से चल रहा हैं। तीर्थ पर ब्लाक लगाने तथा महिला घाट निर्माण का कार्य पूरा होने वाला हैं। महोत्सव के दौरान लगभग 150 स्टाल लगाए जाएंगे। इसके साथ-साथ फुड कोर्ट के लिए भी स्टाल आरक्षित कर दी गई हैं। 18 से 22 जनवरी तक तीर्थ स्थल पर महाआरती का आयोजन होगा। महाआरती से पहले भजन संध्या का भी आयोजन होगा। सरस्वती तीर्थ पर निरंतर जल प्रवाह लाने का कार्य चल रहा हैं। महोत्स्व शुरू होने से पहले यह कार्य पूरा हो जाएगा और तीर्थ पर निरंतर जल प्रवाह होगा।
उन्होंने यह भी बताया कि 22 जनवरी को देश की 209 नदियों से लाए गए जल से जलाभिषेक किया जाएगा। प्रतिष्ठित लोक कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि महोत्सव में पहुंचने वाले कलाकारों व शिल्पकारों के लिए ठहरने का व्यापक प्रबंध कर लिया गया हैं। सुरक्षा के दृष्टिगत महोत्सव स्थल पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। इसके साथ-साथ महोत्सव स्थल पर बड़ी एलईडी स्क्रीन भी लगाई जाएगी, जिससे महोत्सव में पहुंचने वाले सभी श्रृद्धालु कार्यक्रम को देख सके। महोत्सव में पहुंचने वाले श्रृद्धालुओं के लिए पार्किंग स्थल निर्धारित कर दिए गए हैं। पार्किंग स्थल से महोत्सव स्थल पर पहुंचने के लिए ई-रिक्शा का प्रबंध किया गया हैं