# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
सडक़ सुरक्षा एंव स्कूल वाहन पोलिसी के अन्र्तगत स्कूली बसोंं का किया निरीक्षण

अतिरिक्त  उपायुक्त एंव आरटीए सचिव निशांत कुमार यादव की अध्यक्षता  में शुक्रवार को सैक्टर 12 हुडा ग्रांउड में सडक़ सुरक्षा एंव स्कूल वाहन पोलिसी के अन्र्तगत करीब 150 स्कूली बसोंं का निरीक्षण किया। जांच के दौरान जिन स्कू ल बसों में खामिया पाई गयी है उनको नोटिस जारी किया गया और 15 दिन के अन्दर-अन्दर इन कमियों को दूर करने के निर्देश दिये गये है। इस मौके पर उन्होने बेस्ट तीन स्कूल बसों के चालको को सम्मानित किया जो सभी नियमो की पालना कर रहे थे इन में डीपीएस  की बस प्रथम, एसडी मॉडल स्कूल की बस द्वितीय तथा एसएस इंट्रनैशनल स्कूल नेवल की बस तीसरे स्थान पर रही। 
निशांत कुमार यादव के नेतृत्व में स्कूल बसों की चेकिगं का कार्य सडक़ सुरक्षा सप्ताह अभियान के दूसरे दिन किया गया। यह अभियान 11 जनवरी से शुरू हुआ था ओर आगामी 17 जनवरी तक जारी रहेगा । उन्होने कहा कि मोटरवाहन को खतरनाक तरीके से चलाना,हेल्मेट का प्रयोग न करना, वाहन चलाते समय मोबाईल फोन का प्रयोग, धुम्रपान करना, बिना पंजीकरण के वाहन चलाना मोटरयान अधिनियम के तहत दण्डनीय अपराध है। उन्होने यह भी कहा कि 18 साल से कम उम्र के बच्चे वाहन न चलाये।
 उन्होने कहा कि स्कूल बस व बच्चों की सुरक्षा सभी अभिभावकों, शिक्षकों व बस स्टाफ की सांझी जिम्मेदारी है,  हमें अपने बच्चों को सुरक्षित ढंग से स्कूल बस के उपयोग के बारें में सिखाना चाहिए, बच्चे जब स्कूल बस मे चढे तो जल्दबाजी ना करें, बस के रूकने का इन्तजार करें, एक कतार में रहकर रैलिगं पकडकर बस मेंं प्रवेश करें, अपने शरीर का कोई अगं बस से बाहर न निकाले तथा बस में यात्रा करते समय शोरगुल न करें और ड्राईवर का ध्यान न बटाएंं। 
इस मौके पर कुशलपाल सिंह , एसएचोओ टै्रफिक गौरव पुनिया , आपदा प्रब्धन के रिर्सच ओफिसर सौरिश सिगंला, आरएसओ नरेश सहगल, रमन मिडडा, आरटीए कार्यालय से जोगिन्द्र ढुल सहित भारी संख्या में स्कूल बस स्टॉफ उपस्थित था।