# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
दहेज हत्या में सास-ससुर को दस साल कैद, 10 हजार जुर्माना

रोहतक,दहेज हत्या के मामले में फैसला सुनाते हुए अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश सोनिका गोयल ने विवाहिता के सास-ससुर को दस-दस वर्ष कारावास व दस-दस हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना अदा न करने पर दोषियों को अतिरिक्त कारावास भुगतना पड़ेगा। इस मामलों में सबूतों के अभाव में मृतका के पति को कोर्ट ने बरी कर दिया था।
 
गांव चांदी निवासी रविंद्र ने 26 फरवरी 2016 को सदर थाना पुलिस को दी शिकायत में कहा था कि उसने बड़ी बेटी ज्योति की शादी जून 2015 में भाली निवासी अमित से की थी। अपनी हैसियत से ज्यादा दान-दहेज दिया था, लेकिन ससुराल पक्ष के लोग असंतुष्ट थे। आरोप है कि ससुरालिया बेटी को प्रताड़ित करने लगे। कई बार समझाने के बावजूद भी उत्पीड़न बंद नहीं हुआ तो बेटी ने खुदकुशी कर ली। पुलिस ने मृतका के पति, सास-ससुर ननंद पर मामला दर्ज किया था। पुलिस ने इस मामले में सास-ससुर व पति के खिलाफ चालान पेश किया था, जिसके बाद से मामला कोर्ट में विचाराधीन था। कोर्ट ने इस मामले में पति को बरी करते हुए सास-ससुर को दोषी करार दिया था। मंगलवार को कोर्ट ने सास-ससुर को दस-दस वर्ष कारावास व जुर्माना की सजा सुनाई।