News Description
मानव मूल्य और शिक्षा विषय पर विश्वविद्यालय में हुआ सेमिनार

जींद : सीआरएसयू में बृहस्पतिवार को मानव मूल्य और शिक्षा विषय पर व्याख्यान का आयोजन किया गया। इसमें विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों व पूरे स्टाफ ने भाग लिया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया के सीनियर एडवोकेट बलराज ¨सह मलिक शामिल हुए। मुख्य वक्ता ने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार ने देश के सभी आईआईटी में मानव मूल्य विषय को अनिवार्य रूप से पढ़ाने के लिये लागू कर दिया है। इसके साथ ही आने वाले समय में मेडिकल, डेंटल व भारत के अन्य विश्वविद्यालयों व कॉलेजों में भी यह विषय लागू होगा। उन्होंने कहा कि हमें यह सोचने की जरूरत है कि शिक्षा में किस प्रकार के मूल्यों को शामिल किया जाना चाहिए जो समाज के लिये सहायक हो। शिक्षा मूल्यों पर आधारित होनी चाहिए, जिससे विद्यार्थी स्वयं व समाज का अवलोकन करे व बेहतरी के लिये कार्य करें। उन्होंने बताया कि मानव मूल्य प्रोजेक्ट तीन स्तर पर कार्य रहा है, सरकार के साथ, स्कूलों के साथ व समाज के साथ। उन्होंने कहा कि आदमी का पैकेज आज के समय में बड़ा हो गया है, लेकिन आदमी छोटा। इसका सीधा सा कारण है कि वह भौतिक सुविधाओं के पीछे भाग रहा है। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आरबी सोलंकी ने कहा कि हमें खुद को मौका देना चाहिए आत्म¨चतन करने के लिये।