# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
आशा वर्कर्स ने तैयार की आंदोलन की रूपरेखा, 18 से धरना शुरू

 फतेहाबाद: आशा वर्कर्स यूनियन ने सरकार से आर-पार की लड़ाई लड़ने का ऐलान कर दिया है। आशा वर्करों द्वारा 17 जनवरी से आंदोलन की घोषणा की गई है। आशा वर्कर्स यूनियन का एक प्रतिनिधिमंडल डिप्टी सिविल सर्जन फतेहाबाद से मिला और हड़ताल को लेकर नोटिस सौंपा। इस प्रतिनिधिमंडल में आशा वर्कर्स यूनियन की जिला प्रधान शीला शक्करपुरा, सहसचिव अनिता इंदाछुई, भट्टू सीएचसी सचिव सुमन धारनियां, सविता भूना, गीता के अलावा सीटू के जिला उपप्रधान रमेश जांडली शामिल रहे। जिला प्रधान शीला शक्करपुरा ने बताया कि 45वें श्रम सम्मेलन की सिफारिशों को लागू करने, कर्मचारी के रूप में इन्हें मान्यता देने, सभी वर्कर्स को 18 हजार रुपये न्यूनतम वेतन देने, सभी वर्कर्स को सामाजिक सुरक्षा देने, ईएसआइ के दायरे में लाने, हरियाणा सरकार अपने न्यूनतम वेतन के बराबर आशा वर्कर्स का न्यूनतम वेतन फिक्स करने, आशा वर्कर्स को सब सेंटर पर अलमारी व हाजिरी रजिस्टर मुहैया करवाने व सेल्फ अप्रेजल पर सभी प्रकार के हस्ताक्षर बंद करने की मांग को लेकर आशा वर्कर्स यूनियन ने आंदोलन की घोषणा की है। इस कड़ी में जिलेभर की आशा वर्कर्स द्वारा श्रमिक संघों के आह्वान पर 17 जनवरी को हड़ताल की जाएगी और 18 जनवरी से उपायुक्त कार्यालय पर अनिश्चितकालीन धरना शुरू किया जाएगा। यदि प्रदेश सरकार व विभाग ने उनकी मांगों को नहीं माना तो 27 से 30 जनवरी तक आशा वर्करों द्वारा हड़ताल की जाएगी। इसके अलावा 30 जनवरी को ट्रेड यूनियनों के आह्वान पर किए जाने वाले सत्याग्रह, जेल भरो आंदोलन में भी आशा वर्कर्स बढ़चढ़ कर भाग लेंगी। उन्होंने जिलेभर की आशा वर्कर्स से एकजुट होकर इन प्रदर्शनों में बढ़चढ़ कर भाग लेने की अपील की है।