News Description
सुरक्षा के अभाव में चोरी का अड्डा बना रैन बसेरा

 सोनीपत : ठंड से ठिठुरते बेघर लोगों के लिए स्थापित किए रैन बसेरा में सुविधाओं व सुरक्षा की कमी के चलते इनका सही उपभोग नहीं हो पा रहा है। प्रशासन या नगर निगम की ओर से रेलवे स्टेशन पर दो दिन पहले स्थापित किए रैन बसेरा में कोई केयरटेकर नहीं है। यहां अभी तक बिछाने के गद्दे व ओढ़ने के लिए कंबल नहीं पहुंचे हैं।

इस रैन बसेरा में मंगलवार व बुधवार की दोनों रात चोरी की घटनाएं घटी, जिसमें गरीब बेघरों के सामान तक को नहीं बख्शा गया। किसी के चप्पल-जूते चोरी हुए तो किसी का कंबल। कई लोगों के झोलों से लेकर रुपये भी निकाल लिए गए। दोनों पैरों से अक्षम दिव्यांग अखिलेश कुमार ने बताया कि रेलवे स्टेशन के पास रैन बसेरा लगा देने से उसे काफी सहूलियत होने की उम्मीद थी। फुटपाथ पर रात न गुजारकर रैन बसेरा में शरण लेने का उसका फैसला बेहद बुरा साबित हुआ। अखिलेश ने बताया कि उसे दिव्यांग के तौर पर सरकारी पेंशन मिलती है। उसकी पिछले एक साल की जमा पूंजी 3500 रुपये जैकेट की जेब से तब निकाल लिए गए, जब वह मंगलवार की रात अस्थायी रैन बसेरा में शरण लिए हुए थे। इससे अगली रात यानी बुधवार को भी कई लोगों के जूते व एक व्यक्ति का मोबाइल भी चोरी हो गया। अखिलेश को खुद नहीं पता कि इस चोरी का जिम्मेदार वह किसे ठहराए