News Description
दो साल बाद भी कच्चाबेरी प्रोजेक्ट पर नहीं बनी सहमति

 

रोहतक: जाम से निजात दिलाने के लिए कच्चाबेरी रोड पर करीब दो साल बाद भी फैसला नहीं हो सका। जबकि तय यह था कि हिसार रोड से अंबेडकर चौक तक निर्माणाधीन 152 करोड़ के एलीवेटिड रोड का 70 फीसद काम पूरा होने पर कच्चाबेरी रोड पर काम शुरू होगा।

अभी तक कच्चाबेरी रोड पर एलीवेटिड बनेगा, अंडरपास या फिर ओवरब्रिज इसका भी फैसला अभी तक नहीं हो सका। जल्द ही समाधान नहीं मिला तो योजना पर आठ माह से पहले काम होते हुए नहीं दिख रहा। वहीं, जाम से परेशान नई सब्जी मंडी और अनाज मंडी के कारोबारियों ने मांग की है कि जल्द ही समाधान होना चाहिए। यहां रेलवे क्रॉ¨सग बंद होने के कारण दिनभर जाम लगा रहता है। जाम में रोजाना हजारों वाहन फंस जाते हैं। जिससे व्यापारियों का कारोबार भी प्रभावित हो रहा है।

कच्चाबेरी रोड पर रेलवे क्रॉ¨सग के चलते जाम लगा रहता है। जिन दुकानदारों की दुकानें रेलवे क्रॉ¨सग के निकट हैं, वह अंडरपास बनवाने की मांग कर रहे हैं। क्रॉ¨सग से जिनकी दुकानें दूर हैं, वह व्यापारी ओवरब्रिज की मांग पहले ही उठा चुके हैं। जबकि पीडब्ल्यूडी यहां एलीवेटेड रोड प्रस्तावित कर चुकी है। जिसका बड़े पैमाने पर कच्चाबेरी रोड व्यापार एसोसिएशन ने विरोध किया था। यहां बता दें कि करीब 60 करोड़ की लागत से रेलवे क्रॉ¨सग पर एलीवेटेड रोड का निर्माण प्रस्तावित था।

कच्चाबेरी रोड के प्रोजेक्ट पर तभी कार्य शुरू होगा, जब एलीवेटेड रोड का कार्य पूरा हो जाएगा। अभी ड्राइंग से लेकर दूसरे कार्य प्रस्तावित हैं। प्रोजेक्ट के लिए अप्रूवल के लिए फाइल भेज दी है। मगर एलीवेटेड बनेगा या फिर ओवरब्रिज या अंडरपास इसे लेकर सहमति बनाएंगे