News Description
हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की उगाही पर हंगामा

पलवल: वाहनों पर लगने वाली हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के नाम पर हो रही कथित अनियमितताओं को लेकर बृहस्पतिवार को लघु सचिवालय में काफी शोर-शराबा हुआ। लोगों का कहना था कि नंबर प्लेट के नाम पर तय राशि से ज्यादा राशि वसूली जा रही है। बाद में इस मामले में मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी अभिनव वत्स ने मौके पर जाकर लोगों को शांत किया।

समाजसेवी तथा भाजपा की युवा इकाई भाजयुमो के पूर्व जिलाध्यक्ष दीपक मित्तल बृहस्पतिवार को अपने वाहनों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए लघु सचिवालय गए। उनका आरोप है कि संबंधित लिपिक ने प्लेट के लिए उनसे 350 रुपये मांगे। जब उन्होंने इस बात का विरोध किया तो उनसे 261 रुपये लेकर रसीद दे दी गई। उनका कहना है कि संबंधित लिपिक ने बिना मांग किए ही उनकी एक और रसीद जोकि 118 रुपये की थी, तत्काल नंबर देने के नाम पर काट दी, जबकि उन्होंने तत्काल नंबर की कोई मांग ही नहीं की थी।

उनके एक दूसरे स्कूटर पर प्लेट लगाने के लिए 143 रुपये की रसीद काटी गई, जबकि उनसे 154 रुपये जद्दोजहद करने बाद लिए गए। उन्होंने जब ज्यादा पैसे लेने का विरोध किया तो वहां काफी शोर-शराबा हो गया। उनका कहना था कि कुछ कर्मचारी सरकार को बदनाम करने पर तुले हैं। उन्होंने इस सारे मामले की जांच करने की मांग की।