News Description
हनीप्रीत पर आरोप तय करने के लिए शुरू नहीं हुई बहस

पंचकूला : 25 अगस्त को पंचकूला में हुई ¨हसा और देशद्रोह मामले में वीरवार को सुनवाई के दौरान आरोपों पर बहस शुरू नहीं हो सकी। बचाव पक्ष की ओर से सुनवाई शुरू होते ही कह दिया गया कि उन्हे चालान की कॉपियां पूरी नहीं मिली हैं, जिसके चलते वे अभी बहस करने की स्थिति में नहीं हैं। इसलिए जब तक वह पूरा चालान पढ़ नहीं लेते, तब तक बहस शुरू न करवाई जाए। बचाव पक्ष की दलीलें सुनने के बाद अतिरिक्त सत्र एवं जिला न्यायधीश नीरजा कुलवंत कल्सन ने एसआइटी को आदेश दिए कि आरोपियों के वकीलों को पूरी कॉपियां मुहैया करवाई जाएं। बचाव पक्ष को शुक्रवार को पूरी चालान की कॉपी सौंप दी जाएगी। वहीं, वीरवार को आरोपी हनीप्रीत को अंबाला जेल से लाकर पेश किया गया। इसके अलावा सुरेंद्र धीमान, गुरमीत, शरणजीत कौर, दिलावर सिंह, गोविंद, प्रदीप कुमार, गुरमीत कुमार, दान सिंह, सुखदीप कौर, सीपी अरोड़ा, खरैती लाल को भी पेश किया गया। इन सभी पर एफआइआर नंबर-345 में धारा 121, 121ए, 216, 145, 150, 151, 152, 153 और 120बी के तहत आरोप है।

21 फरवरी को होगी अगली सुनवाई

हनीप्रीत समेत 15 लोगों के खिलाफ एसआइटी ने 28 नवंबर को पंचकूला कोर्ट में 1000 पेज की चार्जशीट दाखिल की थी, जिसमें इन सभी पर साध्वी यौन शोषण मामले में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकूला में हिंसा भड़काने और देशद्रोह के आरोप हैं। मामले की अगली सुनवाई 21 फरवरी को पंचकूला कोर्ट में होगी, जिसमें आरोप तय करने पर बहस होगी