News Description
नाम बदलने के बाद भी हरियाणा में पद्मावत पर बवाल के आसार

 हिसार : पद्मावती फिल्म का नाम बदलकर पद्मावत होने के बाद भी इसका विरोध कम होने का नाम नहीं ले रहा। श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने हरियाणा में विरोध और तेज करने का फैसला लेते हुए 25 जनवरी को फिल्म रिलीज न होने देने की चेतावनी दी है। इसके अलावा मुख्यमंत्री मनोहर लाल से राजस्थान सरकार की तरह हरियाणा में भी फिल्म को बैन करने की मांग की है। यह फैसला डाबड़ा चौक स्थित कार्यालय में कार्यकारिणी की बैठक में लिया गया।

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के प्रदेश उपाध्यक्ष भूपेंद्र ¨सह राघव ने कहा कि फिल्म का नाम बदलने और सीन काट देने से अगर कोई ये सोचता हो कि समाज शांत हो जाएगा तो यह सबकी गलतफहमी है। करणी सेना ने जो इस फिल्म को लेकर डेढ़ साल पहले विरोध शुरू किया था वह विरोध जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि लठ का नाम फूल रख देने से लठ कभी फूल नहीं बन जाता। उसी प्रकार फिल्म का नाम बदलने से फिल्म के तथ्य नहीं बदल जाएंगे। यह फिल्म मनोरंजन के लिए बनाई गई है, मगर ¨हदू समाज मनोरंजन के लिए नहीं है। उन्होंने हरियाणा सरकार से मांग की है कि फिल्म पर बैन लगाया जाए और 25 जनवरी को हरियाणा के किसी भी सिनेमाघर में फिल्म रिलीज न होने दी जाए। साथ ही उन्होंने प्रशासन और सरकार को चेताते हुए कहा कि अगर फिल्म प्रदेश के सिनेमाघरों में दिखाई गई तो अंजाम भुगतने को तैयार रहें। उन्होंने कहा कि अभी तक करणी सेना ने शांतिपूर्वक विरोध किया है, मगर अब भावनाएं आहत हुईं तो हम हथियार उठाने से भी पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा कि वे फिल्म के विरोध को लेकर हर जिले में बैठक कर रहे हैं। बैठक में जिला अध्यक्ष मनीष ¨सह निर्वाण, जिला सचिव दीपू सोलंकी, विजय शर्मा, राजेश बिश्नोई व अन्य सदस्य मौजूद रहे।