# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
काउंट डाउन शुरू, प्रतीक चिन्ह निर्माण अटके पड़े

फरीदाबाद : सूरजकुंड मेला का काउंट डाउन शुरू हो चुका है, लेकिन मेला परिसर में बनाए जाने वाले थीम स्टेट उत्तर प्रदेश के प्रतीक चिन्ह बनारस के घाट बनाने की फाइल अभी अटकी हुई है, वहीं कुंभ मेला की फाइल पास हो चुकी है पर अभी तक जगह तय नहीं हो पाई है।

आगामी 2 फरवरी को अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेले का उद्घाटन होना है। उस हिसाब से कुल 22 दिन ही शेष बचे हैं। थीम स्टेट की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है, पर बनारस के घाट और कुंभ मेला स्थल जो प्रतीक चिन्ह के रूप में मेला स्थल पर बनाए जाने हैं, उसकी तैयारी अभी तक शुरू भी नहीं हो पाई है। मेला प्रशासन सूत्रों के अनुसार मेला परिसर में बनाए जाने वाले बनारस घाट का स्थान निश्चित हो गया है, पर उसकी अभी तक फाइल ही पास नहीं हुई है। इसके उलट कुंभ मेला की प्रतिकृति की फाइल पास हो चुकी है, पर उसके लिए मेला परिसर में अभी तक स्थान निश्चित नहीं हो पाया है। इसके अलावा उत्तराखंड गेट के पास बनाया जाने वाला थीम स्टेट का अपना घर बनाने के लिए संबंधी तैयारी भी दिखाई नहीं दे रही है।

यहां बता दें कि 32 वर्षो में पहली बार थीम स्टेट के लिए उत्तर प्रदेश की सहमति मिली थी, लेकिन योगी सरकार के अधिकारियों की हीला हवाली के चलते सूरजकुंड मेले की तैयारी में वो जोरशोर दिखाई नहीं दे रहा, जो होना चाहिए।

बुधवार को मेला के नोडल अधिकारी नरेंद्र ¨सह ने मौका मुआयना कर ढीले काम पर अधिकारियों से नाराजगी व्यक्त की। हरियाणा के अपना घर का काम अंतिम चरण में है। बड़ी और छोटी चौपाल के मंच की फिनि¨शग का काम चालू है। दिल्ली गेट की तरफ टिकटघर में काउंटर बढ़ाए जा रहे हैं।