News Description
प्राध्यापकों के धरने को मिला दूसरे जिलों का समर्थन

यमुनानगर: गुरु नानक खालसा कॉलेज के प्राध्यापकों का धरना बुधवार को भी जारी रहा।। अन्य जिलों के प्राध्यापकों ने धरना में शामिल होकर समर्थन दिया। प्राध्यापक कॉलेज से निकाले गए प्राध्यापकों को वापस नौकरी पर रखने की मांग कर रहे हैं।

पेहवा से आए प्राध्यापक डॉ. सुरेंद्र शर्मा ने कहा कि कॉलेज प्रबंधन ने तानाशाही रवैया अपनाते हुए प्राध्यापकों को निकाला। जो गैर कानूनी है। प्रबंधन कमेटी ने यह फैसला जल्द वापस नहीं लिया, तो इसके विरोध में किसी भी हद तक जा सकते हैं। कुरूक्षेत्र जोन के अध्यक्ष डॉ. एमएल शर्मा ने कहा कि यूनियन धरने पर बैठे प्राध्यापकों की हर संभव मदद करेगी। यह संघर्ष न्याय की लड़ाई है। संस्थान का माहौल खराब न कर जल्द समस्या का समाधान करे। प्राध्यापक सीमित वेतन में परिवार का गुजारा करते हैं। नियमित वेतन नहीं मिलने से परिवार की आर्थिक स्थिति बिगड़ जाती है। प्राध्यापकों ने नारेबाजी करके कॉलेज प्रबंधन व ¨प्रसिपल के खिलाफ रोष जताया।

सुबह के समय कड़ाके की ठंड के बावजूद भी प्राध्यापक धरने पर डटे रहे। दिन चढ़ने के साथ-साथ प्राध्यापकों की संख्या बढ़ती चली गई। इस मौक पर डॉ. माला राम बंसल, एनपी ¨सह, जरनैल ¨सह, एमएल ¨सगला, संजीव, बलबीर ¨सह आदि उपस्थित थे।