News Description
अब कैंसर पीड़ितों की जिला नागरिक अस्पताल में हो सकेगी जांच

 सिरसा : अब कैंसर पीड़ितों को जांच के लिए मेडिकल कॉलेज या पीजीआइ नहीं जाना पड़ेगा। स्वास्थ्य विभाग जिला नागरिक अस्पताल में ही जांच की सुविधा उपलब्ध करवाएगा। अस्पताल में मरीजों को बायोप्सी तक की सुविधा मिलेगी। बायोप्सी में शरीर के अंक का टुकड़ा काटकर कैंसर की स्थिति की जांच की जाती है। जांच के बाद आगे बेहतर इलाज के लिए भी मरीज को प्लान बनाकर दिया जाएगा। जांच प्रक्रिया के लिए लैब विस्तारीकरण की प्रक्रिया सिरे चढ़ रही है जबकि पैथोलॉजिस्ट डा. समता को भी ट्रे¨नग दी जा चुकी है।

स्वास्थ्य विभाग के मुख्यालय की ओर से जल्द ही जांच संबंधी उपकरण भी भेजे जाएंगे। अधिकारियों के अनुसार फरवरी महीने में बायोप्सी की सुविधा की शुरुआत की जाएगी। तब तक आवश्यक तैयारियां पूरी की जाएगी।

इस समय कैंसर पीड़ितों को मेडिकल कॉलेज से पहले कोई सुविधा नहीं मिलती है। इसलिए जिले के कैंसर पीड़ितों को जांच के लिए अग्रोहा मेडिकल कॉलेज या फिर रोहतक व चंडीगढ़ स्थित पीजीआइ जाना पड़ता है। शुरुआती जांच में देरी के कारण मरीज एडवांस स्थिति तक पहुंच जाते हैं। जिसके बाद उनका इलाज हो पाना मुश्किल हो जाता है। नागरिक अस्पताल में सुविधा मिलने से शुरुआती जांच करवाने के बाद अपनी स्थिति अनुसार मरीजों को आगे के इलाज की पूरी प्रक्रिया समझाई जाएगी।

 

 के तहत सर्वे होना है। 30 साल या इससे अधिक उम्र के लोगों की घर-घर जाकर जानकारी ली जाएगी। जिनमें कैंसर के लक्षण मिलेंगे, उन्हें आशा वर्कर व एएनएम के जरिये पीएचसी व सीएचसी तक लाकर पंजीकरण किया जाएगा। उसके बाद उन्हें जिला नागरिक अस्पताल भेजा जाएगा। ऐसे मरीजों का विशेष हेल्थ कार्ड बनेगा। नागरिक अस्पताल में जांच के लिए सभी प्रकार के टेस्ट किए जा सकेंगे।

कैंसर पीड़ितों की जांच की व्यवस्था जिला नागरिक अस्पताल में होगी। इसके लिए लैब का विस्तार कर रहे हैं। बायोप्सी भी की जा सकेगी। जांच के लिए मरीजों को मेडिकल कॉलेज या पीजीआइ नहीं जाना पड़ेगा।