# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत नागरिक अस्पताल में वितरित किए चेक

जिले में कार्यान्वित राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत सिविल सर्जन नारनौल डा. डीएन बागडी ने अखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान नई दिल्ली में दिल की बीमारी के इलाज के लिए आज स्थानीय नागरिक अस्पताल में चेक वितरित किए। 

डा. बागडी ने बताया कि दिल की बीमारी के इलाज के लिए हिमांशी पुत्री राकेश कुमार को 40 हजार रुपए, विवेक पुत्र सुरेंद्र को 55 हजार रुपए के चेक दिए। इसके अतिरिक्त  नारायणा हरदयालय हस्पताल जयपूर में दिल की बिमारी के इलाज के लिए सौरव पुत्र सोमदेव को 75 हजार रुपए, वेदिका पुत्री जयपाल को 90 हजार रुपए, अंजली पुत्री सुनील कुमार को 75 हजार रुपए, हिमांषी पुत्री विजय कुमार को 1 लाख 50 पचास हजार रुपए का चेक दिया। 

ल हैल्थ कार्यक्रम के प्रबंधक विकास यादव ने बताया कि  कॉक्लियर ईम्पलांट ऐसा उपकरण है जो श्रवण ईद्रियों में विघुतिय उत्तेजना पैदा करता है जो मरीज को सुनने में मदद करता हैै। कॉक्लियर इम्पलांट जन्म से 5 साल तक के बच्चे जिन्हें सुनता नहीं है उनके लिए निशुल्क करवाया जाएगा।

उप सिविल सर्जन डा. संजय विशनोई ने आमजन से अनुरोध किया है कि 19 साल तक के बच्चे जिन्हें दिल की बिमारी है तथा  5 वर्ष तक के बच्चे जो जन्म से बहरे है वो सरकार की योजना का लाभ उठाने के लिए नागरिक अस्पताल नारनौल के कमरा नंबर 11 में संपर्क करें।