# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
औलांत में पीडब्ल्यूडी की सड़क से हटाया अतिक्रमण

कुंड: गांव औलांत के बस स्टॉप से मोतला कलां गांव को जाने वाली सड़क मार्ग पर किए गए अतिक्रमण को बुधवार को लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने भारी पुलिस की मदद से हटा दिया। पीडब्ल्यूडी की इस सड़क पर लगभग 38 लोगों ने रैंप व दीवार बनाकर अतिक्रमण किया हुआ था, जिसको लेकर कई बार उच्चाधिकारियों को शिकायत की हुई। हालांकि कार्रवाई के दौरान जिन मकानों को लेकर स्थगन आदेश था, उनका टीम ने नहीं तोड़ा।

डहीना के नायब तहसीलदार कन्हैयालाल इस कार्रवाई में बतौर ड्यूटी मजिस्ट्रेट शामिल हुए। इसके अतिरिक्त लोक निर्माण विभाग के एसडीओ आदित्य कुमार, जेई ईश्वर ¨सह, खोला थाना प्रभारी बिजेंद्र ¨सह एवं डहीना चौकी प्रभारी जितेंद्र ¨सह ने भारी पुलिस बल के साथ दोपहर के समय कार्रवाई आरंभ की तो मकान मालिकों में हड़कंप मच गया। जेई ईश्वर ¨सह ने बताया कि औलांत से मोतला कलां को जाने वाली सड़क 44 फीट चौड़ी है लेकिन इस पर काफी संख्या में लोगों अतिक्रमण किया हुआ जिसकी वजह से कई स्थानों पर सड़क की चौड़ाई बेहद कम हो गई। पैमाइश के दौरान पाया गया कि 38 लोगों ने सड़क पर अतिक्रमण किया हुआ है।

तीन बार नोटिस देने के बाद भी जब अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो बुधवार को अधिकारियों की टीम पहुंच गई। हालांकि नोटिस मिलने के बाद छह लोगों ने कोर्ट से स्थगन आदेश ले लिया हुआ है जिन पर कार्रवाई नहीं की गई है। उधर गांव निवासी चरण ¨सह, गो¨वद, करतार व अन्य ने बताया कि हमने गलत पैमाइश का शक है जिसको लेकर शिकायत की हुई है बावजूद इसके उनकी बात नहीं सुनी गई