News Description
झोलाछापों को पकड़ने गई पुलिस व डॉक्टरों से हाथापाई

हथीन : झोलाछाप डॉक्टरों पर छापा मारने गई स्वास्थ्य विभाग की टीम व पुलिस के साथ बहीन थाना क्षेत्र के गांव मलाई व हथीन में मारपीट की गई। विभाग की टीम ने झोलाछाप डॉक्टरों की क्लीनिक व मेडिकल स्टोर से प्रतिबंधित दवाइयां बरामद कर उन्हें सील कर दिया है। मलाई गांव में पकड़े गए झोलाछाप डॉक्टर व मेडिकल संचालक को उसके परिजनों ने पुलिस की गिरफ्त से जबरदस्ती छुड़ा लिया। बहीन थाना पुलिस ने मलाई में तीन नामजद सहित 10-12 अन्य लोगों तथा हथीन में एक झोला छाप सहित कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

पहली घटना मलाई गांव में घटी। मंगलवार की देर शाम को जिला चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर जयभगवान जाटान व औषधि नियंत्रक ड. कृष्ण कुमार तथा कौशल ने पुलिस के साथ मदीना मेडिकल स्टोर व इसी भवन में चल रही मेवात अस्पताल पर छापे की कार्रवाई की। आरोप है कि अस्पताल में गर्भपात का धंधा होता था। इसके अलावा मेडिकल स्टोर पर प्रतिबंधित दवाएं बेची जा रही थी। न ही मेडिकल संचालक के पास अपना लाइसेंस था। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने यहां पर पहुंचकर गर्भपात की किट तथा कुछ प्रतिबंधित दवाओं को अपने कब्जे में ले लिया।

विभाग की टीम की इस कार्रवाई से झोला छाप डॉक्टर मुबीन व मेडिकल संचालक इरशाद भड़क गया। आरोप है कि इरशाद ने कुछ शरारती तत्वों को बुलाकर पुलिस व विभाग की टीम के साथ मारपीट व हाथापाई शुरू कर दी। जैसे तैसे कर पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम अपनी जान बचाकर भागी। पुलिस ने स्वास्थ्य विभाग की शिकायत पर मलाई निवासी इरशाद, मुबीन, खालिद समेत अन्य दर्जनों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

दूसरे मामले में बुधवार को स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर ललित कुमार, डॉक्टर कौशल व औषधि विभाग के कर्मियों ने पुलिस के साथ सुभाष चंद्र नामक एक मरीज की शिकायत पर मंडकोला रोड़ स्थित डॉक्टर उद्यम प्रकाश की क्लीनिक पर छापा मारा। बताया गया है कि उद्यम प्रकाश नजदीकी गांव घर्रोट का रहने वाला है। विभाग की टीम द्वारा डाक्टरी से संबंधित कागजात मांगने पर वह कुछ नहीं दिखा पाया। विभाग की टीम ने क्लीनिक से कुछ दवाएं बरामद की। इसी दौरान झोलाछाप डॉक्टर उधम व उसके कई साथियों ने पुलिस कर्मी जयपाल व किरण देव पर हमला कर दिया।