News Description
अब बीमारी का विवरण भी लिखेंगे सरकारी अस्पताल के डॉक्टर

पानीपत : सिविल अस्पताल व सीएचसी-पीएचसी के डॉक्टर ई-उपचार सुविधा शुरू नहीं होने तक मरीज के पर्चे-कार्ड पर डायग्नोसिस भी लिखेंगे। इतना ही नहीं, प्रत्येक मरीज का विवरण रजिस्टर में भी दर्ज होगा। इससे मरीज को भी पता लग सकेगा कि उसे क्या बीमारी है और क्या इलाज मिल रहा है।

गौरतलब है कि हरियाणा सरकार के प्रिंसिपल सेक्रेट्री एवं हेल्थ कमिश्नर अमित झा 6 जनवरी को सिविल अस्पताल की नई और पुरानी बिल्डिंग का निरीक्षण करने पहुंचे थे। ओपीडी निरीक्षण के दौरान मरीजों के पर्चे-कार्ड पर डायग्नोसिस नहीं लिखा देख उन्होंने चिकित्सकों को कड़ी फटकार लगाई थी। खासकर, हड्डी रोग विशेषज्ञ, ईएनटी विशेषज्ञ व सर्जरी के चिकित्सक को स्पष्ट निर्देश दिए थे कि मरीज के पर्चे-कार्ड पर डायग्नोसिस भी लिखा होना चाहिए। सिविल सर्जन व चिकित्सा अधीक्षक को प्रतिदिन राउंड के निर्देश भी दिए थे। सिविल सर्जन डॉ. संतलाल वर्मा ने बताया कि हेल्थ कमिश्नर के निर्देशों से सभी को अवगत करा दिया गया है।

ओपीडी में साफ-सफाई के सख्त निर्देश संबंधित कर्मचारियों को दिए गए हैं। ई-उपचार सुविधा शुरू होने पर मरीज का पूरा विवरण कंप्यूटर में दर्ज किया जाएगा