# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
म्हारा गांव जगमग गांव योजना का उड़ा फ्यूज

करनाल म्हारा गांव जगमग गांव योजना का फ्यूज उड़ता नजर आ रहा है। बिजली निगम ने इस योजना के तहत जिले के 64 फीडरों को चयनित किया। जिनमें से 40 फीडरों पर चार चरणों में काम किया गया। दो चरण कंपलीट हो चुके हैं, तीसरे व चौथे चरण पर अभी काम हो रहा है। निगम के मुताबिक इस समय 40 में से 10 फीडरों पर 24 घंटे सप्लाई दी जा रही है। इन 10 फीडरों से 27 गांव जुड़े हुए हैं। बाकी 34 गांव में योजना रास नहीं आ रही है। जो रिजल्ट आने चाहिए थे वह नहीं आ पा रहे हैं। देहात में अभी भी लाइन लोस 68 प्रतिशत है। हालांकि निगम का दावा था कि 31 मार्च 2108 तक लाइन लोस 20 प्रतिशत से नीचे लाया जाएगा। लेकिन जिस गति से काम हो रहा है उससे जाहिर है कि लक्ष्य बिजली निगम से कोसों दूर है। वहीं शहर में बिजली व्यवस्था को सुधारने में निगम सफल रहा है। लोड रिडक्शन प्लान के तहत लाइन लोस 18 प्रतिशत तक आ गया है।म्हारा गांव-जगमग गांव योजना के तहत ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं को 24 घंटे बिजली देने का लक्ष्य है। शुरू में 65 ग्रामीण फीडरों पर सप्लाई के घंटे 12 से बढ़ाकर 15 करना, बिजली मीटर घर से बाहर लगवाने पर सप्लाई 15 से बढ़ाकर 18 घंटे सुनिश्चित करना और बिलों का 90 प्रतिशत भुगतान करने पर गांव को 21 घंटे बिजली देने का प्रावधान है। लाइन लोस 20 प्रतिशत से नीचे आने पर 24 घंटे बिजली देने का प्रावधान है।

लाइन लोस कम करने पर इन दो योजनाओं पर किया काम

गांवों में लाइन लोस को कम करने के लिए बिजली निगम ने म्हारा गांव जगमग गांव योजना पर काम किया। योजना पर कुछ काम हुआ, लेकिन अब इसको ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि इसमें घरों से मीटर बाहर निकालने का भी एक प्रोविजन है, जो ग्रामीणों को रास नहीं आ रहे हैं। लाइन लोस में कमी जरूर आई है, लेकिन सफल नहीं कहा जा सकता। क्योंकि अभी 68 प्रतिशत लोस है जो 20 प्रतिशत तक लाना है। शहर में बिजली व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए लोड रिडक्शन प्लान अमल में लाया गया। इसके तहत जर्जर बिजली की तारों को बदलने का कार्य शुरू किया गया था। शहर में ज्यादातर जगहों पर यह कार्य हो चुका है। कुछ जगहों पर कार्य बचा हुआ है निगम 31 मार्च तक इसे पूरा करने का दावा कर रहा है। इस प्लान की सफलता के कारण लाइनलोस शहर में 18 प्रतिशत तक आ गया है। यहां 24 घंटे बिजली दी जा रही है।

उपभोक्ता बोले-मीटर बाहर निकाला तो कौन करेगा सुरक्षा